पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टीकाकरण सेंटर पर अव्यवस्थाएं:वैक्सीनेशन सेंटर में गंदगी, टीका लगाने वाले नहीं है सुरक्षित, जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान

छतरपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला अस्पताल स्थित कोविड वैक्सीनेशन सेंटर परिसर में गंदगी
  • केंद्र में गंदगी होने के कारण स्वस्थ्य व्यक्ति भी बीमार होकर जाएगा

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल परिसर में सिविल सर्जन कक्ष के पास शहर के लोगों को कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए टीकाकरण केंद्र स्थापित किया गया है। टीकाकरण केंद्र की कई दिनों से सफाई न होने के कारण परिसर में टीकाकरण से निकली डिस्पोजल सामग्री परिसर में फैली पड़ी है। साथ ही केंद्र में पानी बहने से टीकाकरण के लिए आने वाले वृद्धों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन अव्यवस्थाओं की जानकारी प्रबंधन को होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल परिसर में टीकाकरण केंद्र स्थापित कर फ्रंटलाइन और हैल्थ वर्कर्स को दूसरा टीका लगाया जा रहा है। साथ ही जिले के 45 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों को पहला कोविड टीका लगाकर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। लेकिन इस टीकाकरण केंद्र में कई दिनों से सफाईकर्मियों द्वारा परिसर की सफाई न किए जाने से टीकाकरण के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली डिस्पाेजल सामग्री विखरी पड़ी है।

इस्तेमाल किए गए पानी के गिलास विखरे पड़े

टीकाकरण कराने के दौरान केंद्र पर पहुंचे लोगों द्वारा पानी पीने के दौरान इस्तेमाल किए गए पानी के गिलास विखरे पड़े हैं। यदि कोई व्यक्ति इन डिस्पोजल सामग्री के बची आपना वैक्सीनेशन करने जाएगा तो स्वस्थ्य होने के स्थान पर बीमार होकर आ जाएगा। इसलिए विभाग को चाहिए कि सफाई कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर इस सामग्री को वहां से हटवाएं और परिसर को साफ कराए।

कोविड डिपो कबाड़ की चपेट में

इस कोविड वैक्सीनेशन सेंटर के जस्ट पीछे ही स्वस्थ्य विभाग द्वारा पूरे जिले में सप्लाई की जाने वाली कोविड-19 वैक्सीन का डिपो स्थापित किया गया है। इस डिपो के इस पूरे बरामदे और एक कक्ष में सालों से खराब पड़े 21 आईएलआर, 14 डी-फ्रीजर सहित 79 स्टेपलाइजर का कबाड़ भरा पड़ा है। वहीं डिपो के एक कक्ष को प्रबंधन द्वारा ड्राई सामग्री रखने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

बरामदे सहित अन्य दो कक्षों में सालों से आईएलआर, डी-फ्रीजर व स्टेपलाइजर सहित अन्य कबाड़ भरा होने से चारों ओर डस्ट ही डस्ट जम गई है। साथ ही अन्य छोटी-छोटी खराब सामग्री मौजूद होने से भवन में गंदगी फैली हुई है। इस कारण कोविड-19 वैक्सीन खराब होने का खतरा बना हुए है।
ये हैं इनके जिम्मेदार

जिला अस्पताल प्रबंधन

क्यों : जिले का मुख्य कोविड टीकाकरण केंद्र जिला अस्पताल परिसर में मौजूद है। इसलिए अस्पताल प्रबंधन की जिम्मेदारी बनती है कि इस केंद्र की सफाई के लिए एक कर्मचारी की ड्यूटी निर्धारित कर परिसर में स्वच्छता बनाए रखें। पर प्रबंधन द्वारा इस ओर ध्यान न दिए जाने से टीकाकरण केंद्र धीरे-धीरे कचरा केंद्र में तब्दील होता जा रहा है।

  • जिला अस्पताल के टीकाकरण केंद्र परिसर में कचरा मौजूद है, इस बात की मेरे पास जानकारी नहीं है। आप ने अवगत कराया है तो मैं तत्काल कर्मचारियों को केंद्र पर भेज कर सफाई करवाता हूं। - डॉ आपी गुप्ता, आरएमओ जिला अस्पताल

स्वास्थ्य विभाग के जिला अधिकारी

क्यों : जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल परिसर में कोविड वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित कर लोगों को कोविड टीका लगाने का कार्य किया जा रहा है। इसलिए इन आला अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि सेंटर पर क्या हो रहा है, इसकी जानकारी रखते हुए उसे पूरा कराएं।

  • कोविड वैक्सीनेशन सेंटर परिसर में कई दिनों से कचरा फैला हुआ है। इस बात की जानकारी लगते ही जिला अस्पताल प्रबंधन से परिसर की सफाई करने के लिए बोला है। उन्होंने जल्द ही परिसर की सफाई कराने की बात कही है। - डॉ मुकेश प्रजापति, जिला टीकाकरण अधिकारी
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज का दिन मित्रों तथा परिवार के साथ मौज मस्ती में व्यतीत होगा। साथ ही लाभदायक संपर्क भी स्थापित होंगे। घर के नवीनीकरण संबंधी योजनाएं भी बनेंगी। आप पूरे मनोयोग द्वारा घर के सभी सदस्यों की जरूर...

    और पढ़ें