पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीएम ने जारी किया आदेश:11 महीने से बंद पड़े जिले के छात्रावास फिर से खुलेंगे

छतरपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जारी किया निर्देश (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जारी किया निर्देश (फाइल फोटो)
  • , जिले के 17 हजार से अधिक छात्रों को मिलेगा लाभ

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशभर के जनजातीय छात्रावासों को शीघ्र खोले जाने के निर्देश दिए हैं। 10वीं-12वीं की बोर्ड और कॉलेज परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए जनजातीय वर्ग के विद्यार्थियों को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

शासन के आदेश के मुताबिक आश्रम, जूनियर छात्रावास अभी नहीं खोले जाएंगे। वहीं हॉस्टलों में 9वीं-11वीं के विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं मिलेगा। बता दें कि पिछले दिनों अभाविप के पदाधिकारियों ने अलग-अलग जिलों में ज्ञापन देकर होस्टल खोले जाने की मांग की थी।

जबकि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति जनजाति युवा संघ के छात्रों ने सोमवार को जिला मुख्यालय पर मौजूद छात्रावासों को जल्द के लिए कलेक्टोरेट परिसर में पिछले चार दिनों से पंडाल लगाकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। परिषद के पदाधिकारियों का कहना है कि हाई और हायर सेकंडरी स्कूल खुलने के बाद अब छात्रावास बंद होने से ग्रामीण अंचल के विद्यार्थियों को स्कूल आकर पढ़ाई करने में परेशानी हो रही है।

छात्रावास बंद होने से किराए के कमरों में रह रहे छात्र

यही नहीं छात्रावास बंद होने से विद्यार्थी महंगे दामों पर कमरे किराए पर लेकर रह रहे हैं, ताकि उनकी पढ़ाई सही तरह से हो सके। ऐसे में उन्हें किराए से कमरा लेकर रहना महंगा पड़ रहा है। परिषद के पदाधिकारियों ने मांग की थी कि यदि छात्रावास खुल जाएंगे तो ग्रामीण अंचल के विद्यार्थियों को रहने और भोजन की व्यवस्था हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने अभाविप की मांग को मानते हुए होस्टल खोलने के निर्देश दिए हैं। हाई स्कूल की परीक्षा 30 अप्रैल और हायर सेकंडरी स्कूल की परीक्षा 1 मई से आयोजित होगी।

छात्रावास खुलने के आदेश से जिले के करीब 17 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को राहत मिलेगी। छात्रावासों में साफ-सफाई, स्वच्छता तथा सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जाएगी। इस उद्देश्य से छात्रावासों में कक्षा 10वीं एवं 12वीं के विद्यार्थियों को ही रहने की अनुमति दी जाएगी। यह सुविधा 9वीं तथा 11वीं के विद्यार्थियों के लिए नहीं होगी।

हॉस्टल में होगा क्वारेंटाइन का अलग कमरा

प्रत्येक छात्रावास में अलग से एक क्वारेंटाइन रूम बनाया जाएगा। गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराने के लिए छात्रावास अधीक्षकों का स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से प्रशिक्षण कराया जाएगा। प्रत्येक छात्रावास निकटतम शासकीय स्वास्थ्य केंद्र के साथ संबद्ध किया जाएगा। स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर का मोबाइल नंबर छात्रावास के सूचना पटल पर लिखा जाएगा। छात्रावासों में स्वास्थ्य परीक्षण होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें