अनदेखी / कोविड-19 के जिला वाहन प्रभारी ने नियमों के खिलाफ अपना ही वाहन लगा लिया किराए पर

X

  • मामले की जानकारी होने के बाद भी बिजावर अस्पताल के प्रभारी पर सीएमएचओ नहीं कर रहे कार्रवाई

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

छतरपुर. एक ओर पूरा जिला प्रशासन आम लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। वहीं दूसरी ओर बिजावर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं कोविड-19 के जिला वाहन प्रभारी इस वैश्विक महामारी का फायदा उठाते हुए अपना निजी खटारा वाहन नियमों को ताक पर रखकर लगाए हुए हैं। इस बात की जानकारी विभागीय अधिकारी को होने के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही है। 
जानकरी के अनुसार बिजावर सामुदायिक स्वास्थ केंद्र के प्रभारी डॉ. मनोज पाल को सीएमएचओ डॉ. विजय पथौरिया द्वारा कोविड-19 का जिला वाहन प्रभारी नियुक्त किया गया। वाहन प्रभारी नियुक्त होने के बाद उन्होंने सबसे पहले अपनी निजी कार एमपी 35 सीए 2010 को अपने ही अस्पताल में किराए पर लगा लिया। 
यह वाहन डॉ. मनोज पिता धनीराम पाल अजयगढ़ जिला पन्ना के नाम पर दर्ज है। जो 2016 में डॉ. पाल द्वारा खरीदा गया, जिसका रजिस्ट्रेशन पन्ना आरटीयो द्वारा 26 नवंबर 16 को किया गया। नियमानुसार किसी भी वाहन को शासकीय विभाग में किराए से लगाने के लिए टैक्सी परमिट होना जरूरी होता है। इसके साथ ही वाहन दो साल से अधिक पुराना नहीं हाे और वाहन की वर्तमान कंडीशन अच्छी होनी चाहिए। इन सभी नियमों को दरकिनार कर डॉ. पाल ने अपने निजी वाहन को कोविड-19 में किराए पर लगा रखा है। इतना ही नहीं विभाग द्वारा पिछले दो माह से इस वाहन के मालिक को भुगतान भी किया जा रहा है।   

एनआरसी वार्ड दो माह से है बंद 
नवजात के जन्म के बाद महिला और बच्चे को अस्पताल में दो दिनों तक रखते हुए पौष्टिक आहार खिलाया जाता है। ताकि जच्चा और बच्चा आने वाले समय में स्वस्थ रहे। पर बिजावर अस्पताल में स्थित कुपोषण मिटाने वाला एनआरसी वार्ड पिछले दो माह से बंद पड़ा हुआ है। इस बात की जानकरी लगने पर बिजावर बीएमओ बुधवार को वहां पहंुचे और वार्ड को खोलकर प्रसूता महिलाओं और बच्चों को भर्ती करने की बात कही। बीएमओ के कहने पर केंद्र प्रभारी ने वार्ड को कुछ समय के लिए खोला और बाद में बंद कर दिया। इस बात की जानकारी लगने पर बीएमओ डॉ. नरेश त्रिपाठी ने गुरुवार को बिजावर एसडीएम डीपी द्विवेदी से मुलाकात कर एनआरसी वार्ड को सुचारु रूप से संचालित करने बात रखी। बीएमओ डॉ. नरेश त्रिपाठी ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण को रोकना जरूरी है। पर प्रसूता महिलाओं और नवजात बच्चों के स्वास्थ के साथ खिलवाड़ भी नहीं किया जा सकता। इसलिए इस वार्ड का खुलना जरूरी है। इस मामले को लेकर बिजावर एसडीएम से बात हो गई है। एक या दो दिन में इस वार्ड को सुचारु रूप से शुरू कर दिया जाएगा। 

डॉ. मनोज पाल, बिजावर सामुदायिक केंद्र प्रभारी ने कहा - अपने वाहन से कोविड-19 का काम कर रहा हूं
विभाग द्वारा वाहन उपलब्ध न कराए जाने के कारण में अपने निजी वाहन से कोविड-19 का कार्य कर रहा हूं। लॉकडाउन में मरीज नहीं आने से एनआरसी वार्ड बंद किया गया था।  एनआरसी वार्ड खुल रहा है। पर बच्चें भर्ती नहीं हो रहे हैं। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग को पत्र लिखा  है। 

डॉ. नरेश त्रिपाठी, बिजावर बीएमओ न कहा - वे स्वयं जिला वाहन प्रभारी हैं
सीएमएचओ डॉ विजय पथौरिया ने बिजावर सामुदायिक स्वास्थ केंद्र के प्रभारी डॉ. मनोज पाल को कोविड-19 में लगाए जाने वाले वाहनों का जिला प्रभारी नियुक्त किया है। अब वे कौन सा वाहन लगा रहे हैं और कौन सा नहीं लगा रहे यह वे दोनों जाने। बीएमओ होने के नाते मेरा काम क्षेत्र के लोगों को इलाज देना है, जो में कर रहा हूं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना