पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निर्माण कार्य में धांधली:डेढ़ करोड़ से बनाए जा रहे शेड निर्माण में रेत के स्थान पर डस्ट का कर रहे उपयोग

छतरपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंडी में मंडी बोर्ड द्वारा 75-75 लाख की लागत से दो शेडों का कराया जा रहा निर्माण
  • घटिया सामग्री के उपयोग की जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार मौन

भोपाल मंडी बोर्ड द्वारा इन दिनों शहर में सटई रोड स्थित कृषि उपज मंडी में सब्जी और फल विक्रेताओं की सुविधा के लिए 75-75 लाख की लागत से दो टीन शेडों का निर्माण कराया जा रहा है। इस दौरान मंडी बोर्ड के सब इंजीनियर की मिलीभगत से ठेकेदार द्वारा रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल करते हुए घटिया सामग्री लगाते हुए निर्माण किया जा रहा है। घटिया सामग्री लगाए जाने की जानकारी होने के बाद भी स्थानीय मंडी अधिकारी इस बात की शिकायत नहीं कर पा रहे हैं।

मंडी बोर्ड द्वारा सटई रोड स्थित कृषि उपज मंडी परिसर में शहर के थोक सब्जी और फल के व्यापारियों की सुविधा के लिए 75-75 लाख की लागत से 40 बाई 30 वर्ग फिट के दो टीन शेडों का निर्माण कराया जा रहा है। इस कार्य की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए विभाग द्वारा एक सब इंजीनियर नियुक्त किया है। पर यह सब इंजीनियर आए दिन मौके पर नहीं रहता और ठेकेदार अश्विनी रिछारिया रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल कर निर्माण कार्य कर रहा है।

करोड़ की राशि को अपने हिसाब से ठिकाने लगाने में लगे हैं: इस निर्माण कार्य के इस्टीमेट में कहीं भी रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल करने का उल्लेख नहीं है। यह कार्य मंडी बोर्ड द्वारा कराए जाने के कारण स्थानीय मंडी के अधिकारी इस कार्य की गुणवत्ता पर सवाल खड़े नहीं कर सकते। इसी बात का फायदा उठाते हुए भोपाल बोर्ड से नियुक्त सब इंजीनियर और ठेकेदार मिलकर शासन द्वारा आवंटित डेढ़ करोड़ की राशि को अपने हिसाब से ठिकाने लगाने में लगे हुए हैं।

प्लेटफॉर्म के साथ आरसीसी में हो रहा डस्ट का इस्तेमाल: ठेकेदार द्वारा अब तक एक टीन शेड का प्लेटफॉर्म द्वारा किया गया है, जिसमें उसने पूरी तरह से रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल कर निर्माण किया है। अब ठेकेदार द्वारा प्लेटफार्म के सामने आरसीसी का निर्माण किया जा रहा है। जिसमें भरपूर मात्रा में रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह सब अनियमितताएं देखने के बाद भी स्थानीय मंडी के अधिकारी इस मामले में कुछ नहीं कर रहे।

ये हैं इनके जिम्मेदार

भोपाल मंडी बोर्ड का सब इंजीनियर

क्यों : डेढ़ करोड़ की लागत से दो टीन शेडों का निर्माण ठेकेदार अश्विनी रिछारिया द्वारा किया जा रहा है। इस निर्माण के दौरान न तो मौके पर ठेकेदार रहते हैं और न ही विभाग के सब इंजीनियर। जबकि दोनों ही मिलकर रेत के स्थान पर डस्ट का इस्तेमाल करते हुए घटिया निर्माण करने में लगे हुए हैं।

सटई रोड स्थित मंडी में चल रहे निर्माण कार्य में पूरी तरह से रेत का इस्तेमाल किया जा रहा है। शेड की पुराई में ठेकेदार द्वारा डस्ट का इस्तेमाल जरूर किया जा रहा है। यदि निर्माण कार्य में डस्ट का इस्तेमाल हो रहा है, तो मैं कल ही मौके पर पहुंचकर देखता हूं।
- अशोक तिवारी, सब इंजीनियर मंडी बोर्ड

स्थानीय मंडी के अधिकारी

क्यों : मंडो बोर्ड के सब इंजीनियर और ठेकेदार द्वारा घटिया सामग्री का इस्तेमाल कर टीन शेड निर्माण की जानकारी होने के बाद भी स्थानीय मंडी के अधिकारी कुछ नहीं कर रहे हैं। इस कारण ठेकेदार अपनी मनमर्जी की सामग्री लगाकर निर्माण कर रहा है।

मंडी परिसर में भोपाल मंडी बोर्ड द्वारा टीन शेडों का निर्माण कराया जा रहा है। इसलिए स्थानीय अधिकारी होने के नाते मैं इसमें कोई कार्रवाई नहीं कर सकता। आप इस निर्माण कार्य के संबंध में विभाग के सब इंजीनियर से बात करें।
- मंगल सिंह दिखित, मंडी सचिव

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें