पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:ग्राम पंचायत में बिजली कनेक्शन नहीं फिर भी थमा दिया 1.63 लाख का बिजली बिल

छतरपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिल का भुगतान न होने पर सचिव का वेतन काटने का आदेश है जारी

मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी जिले की ग्राम पंचायतों को सालों से बिना बिजली के कनेक्शन दिए लाखों रुपए के बिल थमा रही है। यही कारण है कि पंचायत के सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक इसका भुगतान नहीं कर रहे हैं।

बिलों का भुगतान न होने के कारण यह राशि 11.04 करोड़ तक पहुंच गई है। पिछले दिनों वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान प्रमुख सचिव के निर्देश पर 28 जनवरी की शाम जिपं सीईओ ने आदेश जारी कर इन कर्मचारियों को शत प्रतिशत बिलों का भुगतान न करने पर वेतन काटने का आदेश जारी कर दिया। आदेश जारी होते ही जिले में मौजूद पंचायतों से बिना विद्युत कनेक्शन के बिजली बिल दिए जाने के मामले सामने आना शुरू हो गए हैं।

बता दें कि जिले के छतरपुर, राजनगर, नौगांव, गौरिहार, बड़ामलहरा, बिजावर, बकस्वाहा और लवकुशनगर जनपद पंचायत को मिलाकर 558 ग्राम पंचायतें मौजूद हैं। इन पंचायतों के पंचायत भवन में लिए गए बिजली कनेक्शन के बिल भुगतान न होने पर पिछले दिनों भोपाल मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने आदेश जारी किया। पर इन पंचायतों के सरपंच, सचिव और रोजगार सहायकों ने इन बिलों के भुगतान नहीं किए। अब जिला पंचायत सीईओ अमर बहादुर सिंह ने आदेश जारी कर इन कर्मचारियों को दो दिन के अंदर बिलों का भुगतान करने काे कहा है। विद्युत कंपनी इन पंचायतों पर 11.04 करोड़ का बकाया दिखा रही है।

1. कागजों में दर्ज मीटर कनेक्शन का नंबर
छतरपुर जनपद पंचायत की सीगौंन पंचायत के दिदौल गांव में सालों से नलजल योजना का नामोनिशान नहीं है। साथ ही इस गांव में न तो जल योजना के लिए दिए जाने वाले विद्युत कनेक्शन की लाइन के साथ खंभे तक नहीं है। इसके बाद भी मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कागजों पर पंचायत को कागजों पर 1904510779817 नंबर का कनेक्शन दे रखा है। जिला पंचायत सीईओ द्वारा जैसे ही पंचायतों को बिजली बिलों के भुगतान का आदेश जारी किया।

कंपनी ने सीगौंन पंचायत को 1,63,502 रुपए का पहली बार बिल थमा दिया। गांव के सरपंच छन्नूलाल कुशवाहा ने बताया कि मेरे द्वारा नलजल योजना का कोई भी कनेक्शन नहीं लिया गया। बिल प्राप्त होने के बाद पिछली सरपंच-सचिव से बात की तो उन्होंने भी किसी प्रकार का विद्युत कनेक्शन लिए जाने से इनकार कर दिया। सरपंच ने बताया कि शनिवार को इस संबंध में कंपनी के ईशानगर मंडल को पत्र जारी कर इस मामले की जांच करने की मांग की है।

2. बिना कनेक्शन के कंपनी थमा रही लाखों के बिल
छतरपुर जनपद पंचायत के नौगांव रोड की धमौरा पंचायत द्वारा पंचायत भवन को कोई बिजली कनेक्शन नहीं लिया गया है। इसके बाद भी मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी पंचायत भवन में 1904504875144 नंबर का सालों से बिजली कनेक्शन दर्शाकर बिल थमा रही है। गांव के सरपंच ज्ञान प्रकाश अहिरवार ने बताया कि पंचायत भवन में कोई बिजली का कनेक्शन है, यह मुझे पता नहीं था। इस हफ्ते में विद्युत कंपनी ने जब पंचायत भवन का बिजली बिल 1,30326 रुपए दिया तब पता चला कि भवन में कनेक्शन भी है। सरपंच ने बताया कि बिल कितना फर्जी है, इस बात से पता लगता है कि उसमें मीटर रीडिंग की कोई फोटो नहीं है। आमतौर पर कंपनी प्रत्येक बिजली बिल में मीटर की फोटो लगाकर देती है, चाहे वह खराब हो या सही। सरपंच ने बताया कि गांव में सालों से नलजल योजना बंद पड़ी हुई है, इसके बाद भी बिल नंबर 1904504766082 के माध्यम से 2 हजार से 8500 यूनिट प्रति माह की दर से बिल दिए जा रहे हैं।

3. 5 साल पहले कनेक्शन काटने का दिया था आवेदन
छतरपुर जनपद पंचायत की पठादा पंचायत द्वारा 7 साल पहले गांव में नलजल योजना शुरू करने बिजली कनेक्शन लिया गया। पर बोर ड्राई निकलने के बाद यह नलजल योजना गांव में शुरू नहीं हो सकी। दो साल बाद गांव के सरपंच और सचिव ने इस कनेक्शन काे काटने का आवेदन मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को दिया। पर विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के चलते इसे कागजों में चालू रखा गया। पिछले दिनों मुख्य सचिव का आदेश जारी होने पर कंपनी ने इस माह पंचायत को 1,42291 का बिजली बिल थमा दिया।

पठादा सरपंच भागवती आदिवासी ने बताया कि कनेक्शन काटे जाने का आवेदन देने के बाद सालों बिजली बिल नहीं आया। पंचायत को बिल प्राप्त न होने पर समझे कि कंपनी ने कनेक्शन काट दिया है। अब कंपनी ने बिल नंबर 1904510779805 पंचायत को थमाते हुए 1,42291 रुपए का बिल भेज दिया है। सरपंच ने बताया कि बोर ड्राई होने के कारण जब पंप चला ही नहीं तो इतना अधिक बिल कैसे आ गया। जब पंचायत बिजली कनेक्शन काटने का आवेदन दे चुकी है तो कंपनी को कनेक्शन काट देना चाहिए था।

मंडे को रिकॉर्ड की कराएंगे जांच
बिना आवेदन के किसी ग्राम पंयायत को विद्युत कनेक्शन दिए गए हों, एेसा होना तो नहीं चाहिए। पर आपने बताया है तो मंडे का कार्यालय खुलने के बाद रिपॉर्ड चैक कराता हूं। यदि उसमें गड़बड़ी पाई जाती है तो संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही पंचायत के बिजली बिलों में सुधार किया जाएगा। - आरके पाठक, कार्य पालन अभियांता छतरपुर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें