• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Chhatarpur
  • First Bitten The Child Sleeping With Mother And Two Sisters, Then Bitten The Young Man Sleeping In The Courtyard Of The House, Both Of Them Died In The Hospital

छतरपुर में सांप काटने से घर के 2 चिराग बुझे:रात 3 बजे छोटे बेटे को काटा तो मां ने सुला दिया, 15 मिनट बाद आंगन में सो रहे बड़े बेटे को काटा; 20 मिनट में दोनों की मौत

छतरपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छतरपुर में एक परिवार के दो बेटों की सांप के काटने से मौत हो गई। दोनों भाई सो रहे थे। इस दौरान रात में करीब 3 बजे सांप ने पहले नितेश यादव (13) फिर 15 मिनट बाद बड़े भाई हृदेश यादव (18) काट लिया। दोनों को अस्पताल ले जाया गया। जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। परिवार में 6 सदस्य थे। अब माता-पिता और 2 बड़ी बहन हैं। घटना महाराजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सेवड़ी में है।

गुरुवार देर रात करीब 3 बजे परिवार कच्चे मकान में सो रहा था। इसी दौरान सांप ने बब्बू यादव के छोटे बेटे नितेश के हाथ में काटा। इसके बाद बच्चे ने चिल्लाते हुए मां को जगाया, लेकिन मां ने यह कहते हुए सोने को बोल दिया कि खेत में पिपरमेंट का काम करने से झनझनाहट हो रही होगी। मां की बात मानकर बच्चा कुछ देर तक सोता रहा।

करीब 15 मिनट बाद ही आंगन में सो रहे बड़े बेटे हृदेश यादव को भी सांप ने काट लिया। इसके बाद सांप युवक के हाथ में आ गया। उसने जोर से चिल्लाकर सांप काटने की बात कही। इसके बाद परिवार वाले पहले बड़े लड़के हृदेश को जिला अस्पताल लेकर गए। कुछ देर बाद छोटे लड़के नितेश की भी तबीयत बिगड़ने लगी। गांव वाले उसे भी जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। करीब 20 मिनट में दोनों ने दम तोड़ दिया।

नितेश यादव और बड़ा भाई हृदेश यादव।
नितेश यादव और बड़ा भाई हृदेश यादव।

गरीब किसान है परिवार
जानकारी के मुताबिक, परिवार खेती-किसानी करता है। बड़ा लड़का हृदेश यादव दूध बेचता था। नितेश स्कूल में पढ़ता था। बेटियां माता-पिता की खेती में मदद के साथ घर संभालती हैं।

परिवार में पहले भी हो चुकी ऐसी मौत
जानकारी के अनुसार इस परिवार में सांप के काटने से पहले भी मौत हो चुकी है। साल 2006 में परिवार के दादा सेवक की भी सांप के काटने से जान चली गई थी।

छतरपुर से दिलीप चौरसिया की रिपोर्ट

खबरें और भी हैं...