पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Chhatarpur
  • In Chandimari Village, 3 Children Died Due To Malnutrition And Drinking Contaminated Water, 14 Sick, The Team Arrived To Investigate

कुपोषण का शिकार:चांदीमारी गांव में कुपोषण और दूषित पानी पीने से 3 बच्चों की मौत, 14 बीमार, जांच करने पहुंची टीम

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास विभाग ने कहा-बीमार बच्चों में है कुपोषण के लक्षण

पन्ना के समीपी ग्राम पुरूषोत्तमपुरा की 70 परिवारों वाली आदिवासी बस्ती चांदमारी के बच्चे कुपोषण का शिकार हैं। यहां तीन बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 14 बीमार हैं। जिसका खुलासा महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम के जाने के बाद हुआ। 4 वर्ष के बच्चे शिवा की मौत हुई, बच्चा शिवा कुपोषित पाया।

गांव में पिछले एक सप्ताह के अंदर इस बस्ती के 3 बच्चों की मौत हो चुकी है। करीब 14 बच्चे बीमार हैं। चांदमारी गांव में पीने के पानी के लिए केवल एक कुआं है। जो श्मशान के पास स्थित है। वहीं का पानी लोग लाकर पीते हैं, नहाने के लिए कुएं के पास ही एक छोटी से तलैया है, जहां पर लोग स्नान करते हैं और इसी में पशु भी पानी पीते हैं और तैरते हैं। बच्चों की हुई मौत का मामला सामने आते ही मंगलवार को डाक्टरों और अधिकारियों की टीम गांव पहुंची।

सीएमएचओ बोले- सभी बच्चों का इलाज चल रहा है
पन्ना सीएमएचओ डाॅ. आरएस पांडेय का कहना है कि गांव में 3 बच्चों की मौत सर्दी जुकाम से होने की सूचना पर तुरंत ही टीम को रवाना किया था। गांव में बच्चों का और मृतकों के परिजनों का कोविड टेस्ट किट के माध्यम से कराया है। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। दूषित पानी के कारण यह बीमारी हो सकती है। सभी बच्चों का उपचार किया जा रहा है।

बीमार पोषण का शिकार हैं बच्चे
बस्ती के बच्चे भी कुपोषण का शिकार है। जिन तीन बच्चों की मौत हुई है उनमें करीब 4 वर्ष का बालक शिवा आदिवासी कुपोषित था, जो कुपोषण के कारण एनआरसी में भर्ती रह चुका है। ऐसे कई बच्चे हैं जिन्हें जरूरी पोषण नहीं मिल पा रहा, जिससे वे असामान्य हैं। जिला कार्यक्रम अधिकारी ऊदल सिंह ने बताया कि कि 7-8 बच्चों की आंखें आड़ी-तिरछी हैं। यह कुपोषण का लक्ष्ण है। जाहिर है बच्चे पोषण की कमी और दूषित पानी के कारण संक्रमित हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...