छतरपुर में मासूमों की बाल-बाल बची जान:खेल-खेल में 3 साल की दो नाबालिग बच्चियों ने खाया जहरीला पदार्थ, भर्ती

छतरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्चा वार्ड में भर्ती है मासूम - Dainik Bhaskar
बच्चा वार्ड में भर्ती है मासूम

छतरपुर में खेल-खेल में नाबालिग बच्चों के हादसे के शिकार होने के मामले कुछ ज्यादा ही सामने आ रहे हैं। पिछले दो दिनों में इस तरह के 4 मामले सामने आए हैं। जिसमें चारों नाबालिगों की जाने-अनजाने में हुई दुर्घटनाओं में जान जाते-जाते बची। मामला जिले के लिपट गांव का है। जहां 3 साल की परी कुशवाहा पिता ने अनजाने और खेल-खेल में हेयर डाई खा लिया। जिसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया।

जानकारी के मुताबिक, राजनगर थाना क्षेत्र के पिपट गांव का है। जहां के मोहन लाल कुशवाहा की 3 साल की नाबालिग बेटी परी कुशवाहा ने उस समय हेयर डाई खा लिया, जिस समय वह घर में अकेली थी। उसके माता-पिता खेत पर काम कर रहे थे। जब वह पानी पीने आए तो उन्होंने देखा कि बेटी परी बालों में लगाने वाली हेयर डाई के रैपर को फाड़कर उसे खा रही थी। घबराए परिजन आनन-फानन में उसे अस्पताल लेकर पहुंचे।

तीन साल की नाबालिग ने खाई अज्ञात दवाई जहरीला पदार्थ

वहीं एक और मामला सामने आया है। जहां छतरपुर के अनगौर निवासी कमली कुशवाहा की तीन साल की बेटी आरती कुशवाहा ने खेल-खेल में अज्ञात जहरीला पदार्थ खा लिया। जिसे जिला अस्पताल लाया गया। जहां उसे इलाज के बाद हालत में सुधार होने पर घर वापिस भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...