फसलें हो रहीं खराब:सालों से नहीं हुआ मेंटेनेंस, जगह-जगह से नहर फूटी

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उर्मिल नदी पर स्थित सिंहपुर बैराज से निकली नहर का सालों से मेंटेनेंस न होने और रखरखाव न होने से यह जगह-जगह से फूट चुकी है। सिंहपुर बैराज से निकली नहर बगमऊ तिगैला से बगमऊ, कटहरा, राजापुरवा की ओर गई है। इस नहर में कुछ दिन पहले पानी छोड़ा गया था।

नहर कई जगह से फूट गई, जिससे इसका पानी खेतों में भर गया। लवकुशनगर के योगेंद्र प्रताप सिंह, संतोष सिंह परिहार, कल्लू सिंह कछवाहा, प्रतिपाल सिंह परिहार, सुरेश चौरसिया, मत्तू महाराज सहित दर्जन भर से अधिक किसानों के खेतों में एक सप्ताह से पानी भरा है। यह किसान सिंचाई विभाग के अधिकारियों, तहसील के राजस्व अधिकारियों से शिकायत करके थक चुके हैं लेकिन किसी अधिकारी ने नहीं सुना।

...तो सड़ जाएंगी खेतों पर खड़ी फसलें
किसान योगेंद्र प्रताप सिंह और कल्लू सिंह ने बताया कि हमारे खेतों में मटर, चना, लाही, गेहूं आदि की फसल खड़ी है। खेतों में पानी भरने से हमारी फसलें खराब हो रही हैं। यदि पानी बंद नहीं हुआ तो हमारी फसलें सड़ जाएंगी। सिंचाई विभाग के एसडीओ एसके सिंह का कहना है कि कई किसानों ने नहर का पानी छोड़े जाने की मांग की थी। पानी छोड़ दिया गया, पंप आदि बंद होने के बाद पानी खेतों में भर गया। जानकारी मिलते ही हमने पानी बंद कर दिया है। उन्होंने बताया कि नहर का एक मामला कोर्ट में चल रहा है, जिससे इसका मेंटेनेंस नहीं हो पा रहा है।

खबरें और भी हैं...