बेटे ने किया मां पर जानलेवा हमला:मां ने कहा- दवा खाओ फिर खाना दूंगी, गुस्साए बेटे ने लाठी से कर दी मां की पिटाई, पत्नी-पिता को भी उतारा चुका है मौत के घाट

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घायल मां का अस्पताल में चल रहा है इलाज - Dainik Bhaskar
घायल मां का अस्पताल में चल रहा है इलाज

जिले के महोबा गांव के पास नन्नी बाई कुशवाहा (70) पर उसके ही बेटे ने जानलेवा हमला कर लाठी-डंडों से मारपीट की है। जिसके बाद वह मां को मरा समझ जंगल की ओर भाग गया। मामला महेबा गांव के पास के पुरवा का है जहां नन्नी बाई कुशवाहा को उसके सगे बेटे परसराम कुशवाहा (45) ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। जब मां जब गस्त खा कर नीचे गिर गई तो बेटा मां को मरा समझकर जंगल की ओर भाग खड़ा हुआ। हादसे की जानकारी जैसे ही गांव के पड़ोसियों को मिली वे तुरंत उसकी बेटी को खबर भेजे। जिसके बाद ग्रामीण घायल को जिला अस्पताल लेकर आए। फिलहाल घायल का इलाज जारी है।

पिता-पत्नी को भी मौत के घाट उतारा है
आसपास के लोगों का कहना है कि आरोपी ने 10 साल पहले अपने इसी सनकपन के कारण अपने पिता रामदास कुशवाहा की कुल्हाड़ी से मारकर हत्या करदी थी। इस दौरान जब आरोपी की पत्नी ने ससुर को बचाना चाहा तो उसने अपनी पत्नी को भी नहीं बख्शा और उसकी भी कुल्हाड़ी से हत्या कर दी थी। दो-दो हत्या के बाद उसे जेल हुई थी और वह कुछ दिन पहले ही जेल से बाहर आया था।

दवाई न खाने लिए मां पर किया हमला
घायल नन्नी बाई कुशवाहा ने बताया कि उसके दिमाग में थोड़ी कमी है। इसी लिए इसका इलाज भी जारी है। हादसे के पहले जब मैंने उससे दवाई खाने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। मैंने कहा दवाइयां नहीं खाओगे तो ठीक कैसे होगे बहुत जिद करने पर भी वह नहीं माना और दवाई खाने से मना कर दिया। कुछ देर बाद वह मुझसे खाना मांगा, तो मैंने कहा पहले दवाइयां खाओ फिर खाना दूंगी। इतनी सी ही बात पर उसने लाठी उठाकर मुझ पर हमला कर दिया। फिर में बेहोश हो गई। जिसके बाद मुझे अस्पताल में ही होश आया।

खबरें और भी हैं...