पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम:गौरिहार क्षेत्र से निकली केल नदी उफान पर, पुल के दोनों ओर लगी वाहनों की कतार

छतरपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मानसून विदाई के 6 दिन बाकी, अभी तक 70% बारिश, 30% अभी बाकी
  • विशेषज्ञों के अनुसार शेष दिनों में औसत बारिश का कोटा पूरा होना ना मुमकिन

एक पखवाड़ा के लंबे इंतजार के बाद बुधवार को शहर सहित पूरे जिले में जोरदार बारिश हुई। जिससे लोगों को गर्मी व उमस से निजात मिली। गुरुवार को जिले में 63.2 मिमी यानि 2.5 इंच बारिश हुई। लेकिन अगर बारिश के आंकड़ाें पर नजर डालें तो यह बेहद चिंताजनक है। मानसून सत्र में 1 जून से 24 जून तक छतरपुर जिले में 743.8 मिमी यानी 29.3 इंच बारिश हुई। जबकि पिछले वर्ष 1 जून से 24 सितंबर तक 1027.2 मिमी यानि 40.4 इंच वर्षा हो गई थी। इस तरह अब तक केवल 70.98 फीसदी बारिश हो सकी है। अभी 30 फीसदी बारिश होना बाकी है, जबकि मानसून सत्र की विदाई के केवल 6 दिन शेष हैं। गुरुवार को अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री और न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री रहा। आर्द्रता सुबह 96 फीसदी और शाम को 80 फीसदी दर्ज की गई। खजुराहो मौसम कार्यालय के राजेंद्र सिंह परिहार ने बताया कि आसमान में बादल हैं आने वाले दो दिनों तक बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग कार्यालय भोपाल के वैज्ञानिक जीडी मिश्रा कहते हैं कि इस साल छतरपुर जिले में केवल 70 फीसदी बारिश हुई है। मानसून सत्र के केवल 6 दिन शेष बचे हैं। इन 6 दिनों में शेष 30 फीसदी की भरपाई असंभव है, उन्होंने बताया कि अभी आने वाले दिनों में और अक्टूबर में बारिश का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि बाकी 30 फीसदी बारिश की भरपाई होना मुश्किल है।

केल नदी के पुल पर आया पानी, आवागमन 20 घंटे रहा बाधित
बुधवार को हुई जोरदार बारिश के कारण गौरिहार क्षेत्र के खड्‌डी के पास से निकली छोटी नदी केल उफान पर रही। पुल के ऊपर कई फिट पानी आ गया, जिससे बुधवार शाम से इस पुल से आवागमन ठप्प हो गया। पुल पर पानी आ जाने से मनुरिया, घूर, बरहा, गहरा, हनूखेरा, भूरापुरवा, पहरा, खड्डी, चंद्रपुरा, मनवारा, पलटा, बदौरा, पड़वार, निधोली, परेई, बरुआ, रावपुर आदि गांवों के लिए आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया। बांदा पहरा से गौरिहार, सरवई आने वाली यात्री बसें भी बंद रहीं। पुल के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं। गुरुवार शाम तक इस नदी का जल स्तर नीचे नहीं आ सका। जिससे गुरुवार को पूरे दिन आवागमन ठप रहा।

1 जून से 24 सितंबर तक विकासखंड वार बारिश
छतरपुर में 668.9 मिमी 26.3 इंच, लवकुशनगर में 499.0 मिमी 19.6 इंच, बिजावर में 744.0 मिमी 29.3 इंच, नौगांव में 764.2 मिमी 30.1 इंच, राजनगर में 843.0 मिमी 33.2 इंच, गौरिहार में 764.0 मिमी 30.1 इंच, बड़ामलहरा में 817.6 मिमी 32.2 इंच और बकस्वाहा में 849.8 मिमी 33.5 इंच वर्षा दर्ज की गई है। बता दें कि जिले की औसत वर्षा 1074.9 मिमी या 42.3 इंच है। जबकि अब तक जिले में केवल 743.8 मिमी यानि 29.3 इंच बारिश हुई। कुल मिलाकर अब तक औसत बारिश की 70 फीसदी बारिश जिले में हुई है। गत वर्ष जिले में 24 सितंबर तक 1027.2 मिमी यानि 40.4 इंच वर्षा दर्ज की गई थी।

गुरुवार को विकासखंड वार हुई बारिश (मिमी में)

  • विकासखंड बारिश
  • छतरपुर 103.8 मिमी
  • लवकुशनगर 70.0 मिमी
  • बिजावर 43.2 मिमी
  • नौगांव 25.0 मिमी
  • राजनगर 59.4 मिमी
  • गौरिहार 90.0 मिमी
  • बड़ामलहरा 41.6 मिमी
  • बकस्वाहा 72.8 मिमी
खबरें और भी हैं...