• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chhatarpur
  • Raipur Police Caught 25 Km Away From Khajuraho, 7 member Team Took Action, Home Minister Narottam Said There Is An Objection To This Action

गांधी को गाली देने वाले कालीचरण पर भिड़ीं दो सरकारें:MP के गृहमंत्री बोले- हमें गिरफ्तारी के तरीके पर आपत्ति; छग के CM ने कहा- बताएं आप खुश हैं या दुखी

खजुराहो5 महीने पहले

छत्तीसगढ़ में आयोजित धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गाली देने वाले कालीचरण को छतरपुर के खजुराहो के रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी पर मध्यप्रदेश सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने इंटर स्टेट प्रोटोकॉल को तोड़ा है। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा बताएं गांधीजी को गाली देने वाले से खुश हैं या दुखी। नियम के तहत कार्रवाई हुई है। कालीचरण के परिवार और वकील को गिरफ्तारी की जानकारी दे दी है। उसे जल्द कोर्ट में पेश किया जाएगा।

रायपुर पुलिस की 7 सदस्यीय टीम ने कालीचरण को गुरुवार सुबह 4 बजे खजुराहो से 25 किलोमीटर दूर बागेश्वर धाम में लॉज से गिरफ्तार किया। उसने छिपने के लिए एक कॉटेज भी बुक कराया था। रायपुर पुलिस की तीन टीमें कालीचरण की तलाश में छत्तीसगढ़ से रवाना हुई थीं। इसमें एक टीम महाराष्ट्र, दूसरी मध्य प्रदेश और तीसरी टीम दिल्ली दिल्ली गई थी। कालीचरण महाराज के खिलाफ रायपुर में धारा 505 (2) और धारा 294 के तहत केस दर्ज किया गया था। रायपुर के पूर्व महापौर और मौजूदा सभापति प्रमोद दुबे ने उनके ऊपर FIR दर्ज करवाई थी।

छतरपुर पुलिस ने लॉज संचालक को गिरफ्तार किया
कालीचरण की गिरफ्तारी के बाद छतरपुर पुलिस एक्टिव हुई है। बमीठा थाना पुलिस ने लॉज संचालक भागचंद्र शिवहरे को लिया हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस ने लॉज की ली तलाशी ली है।

नरोत्तम का भूपेश पर पलटवार
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान के बाद एमपी के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा-कालीचरण ने जो बोला वह आपत्तिजनक था। जिस तरीके से उनकी गिरफ्तारी की गई, उस पर भी आपत्ति है। हम गलत को गलत ही कह रहे हैं। रात के 3 बजे किसी नक्सली को पुलिस नहीं उठाया। स्थानीय पुलिस थाने को सूचना देकर उठा लेते। गिरफ्तारी के बाद थाने को सूचना दे देते। छत्तीसगढ़ पुलिस के तरीके पर आपत्ति है। यह संघीय ढांचे के खिलाफ है। यदि ऐसा होगा तो किसी भी राज्य की पुलिस कहीं भी घुस जाएगी और अफरा-तफरी का माहौल बन जाएगा।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कार्रवाई पर आपत्ति दर्ज कराई।
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कार्रवाई पर आपत्ति दर्ज कराई।

बोला- मुझे कोई पछतावा नहीं
गिरफ्तारी से पहले कालीचरण का एक बयान सामने आया था। इसमें वह कह रहा है कि गांधी के बारे में अपशब्द कहने पर मेरे ऊपर FIR हुई। मैं गांधी से नफरत करता हूं, मेरे हृदय में गांधी के प्रति तिरस्कार है, इसलिए मुझे FIR का कोई पछतावा नहीं है। कालीचरण ने गोडसे को अपने ताजा बयानों में महात्मा बताते हुए कहा कि मैं गोडसे को कोटि-कोटि नमस्कार करता हूं। उनके चरणों में मेरा साष्टांग प्रणाम है।

MP सरकार ने जताई आपत्ति
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, हमें छत्तीसगढ़ पुलिस के गिरफ्तारी के तरीके पर आपत्ति है। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने इंटर स्टेट प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया है। उन्हें सूचना देनी चाहिए थी।वे नोटिस देकर भी कार्रवाई कर सकते थे। मैंने मध्यप्रदेश के DGP से कहा है कि तत्काल छत्तीसगढ़ DGP से बात करें और पूछें कि ये क्या तरीका है? गिरफ्तारी के इस तरीके पर आपत्ति व्यक्त करना, अपना विरोध दर्ज कराएं और आपत्ति भी लें। इस मामले में उनसे स्पष्टीकरण मांगें।

कहा- गांधी ने देश का सत्यानाश कर दिया था
रायपुर में आयोजित हुई धर्म संसद के समापन के दिन शनिवार को महाराष्ट्र से आए कालीचरण ने मंच से गांधीजी के बारे में गलत बातें कहीं। उन्होंने कहा था कि इस्लाम का मकसद राजनीति के जरिए राष्ट्र पर कब्जा करना है। सन् 1947 में हमने अपनी आंखों से देखा कि कैसे पाकिस्तान और बांग्लादेश पर कब्जा किया गया। मोहनदास करमचंद गांधी ने उस वक्त देश का सत्यानाश किया। नमस्कार है नाथूराम गोडसे को, जिन्होंने उन्हें मार दिया।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया ट्वीट

ये भी पढ़िए:-

कभी भय्यूजी महाराज का करीबी हुआ करता था कालीचरण, भेंट की थी सोने की रुद्राक्ष माला

खबरें और भी हैं...