• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Chhatarpur
  • The Elder Son Said I Open The Centering By Getting Down In The Septic Tank, As Soon As He Landed, He Got Electrocuted, The Younger Son Also Ran To Save, Got Hit By The Current, My World Was Ruined

2 बेटे, 3 भाई और चाचा को गंवाने का दर्द:प्रत्यक्षदर्शी बोला- बड़ा बेटा सेप्टिक टैंक में सेंटरिंग खोलने गया था, जैसे ही वो उतरा करंट लग गया, बचाने के लिए दौड़ा छोटा बेटा भी चपेट में आया; मेरी दुनिया उजड़ गई

छतरपुर4 महीने पहले
दो बेटे गंवा चुके पिता ने बताई हादसे की कहानी।

घर में शौचालय के लिए सेप्टिक टैंक का निर्माण चल रहा था। टैंक में सेंटरिंग लगी हुई थी। रविवार की सुबह करीब 8 बजे बड़ा बेटा नरेंद्र अहिरवार (25) आया और बोला मैं टैंक में उतर जाता हूं। सेंटरिंग खोल देता हूं। वह टैंक के पास पहुंचा और उतरने लगा, तभी करंट की चपेट में आ गया। बड़े भाई को खतरे में देख छोटा बेटा विजय बचाने के लिए दौड़ा। जैसे ही उसने नरेंद्र को छुआ वह भी करंट की चपेट में आ गया। दोनों की मौत हो गई। मेरे दो बेटे थे, दोनों ही छोड़कर चले गए। मेरी तो दुनिया उजड़ गई। यह बातें घटना के प्रत्यक्षदर्शी जगन अहिरवार ने बताई। घटना में जगन के दोनों बेटों की मौत हो गई। जगन कारीगर का काम करता है।

तीन भाई और चाचा की करंट से मौत
जगन ने बताया विजय को करंट लगने के बाद, शंकर पिता हल्ली अहिरवार (34), रामप्रसाद पिता हल्ली अहिरवार (29), मिलन पिता हल्ली अहिरवार (28) और चाचा लक्ष्मण अहिरवार (60) एक-दूसरे को बचाने के चक्कर में एक के बाद एक करंट की चपेट में आ गए। उन्हें देख मैं भी दौड़ा और करंट की चपेट में आ गया। तब तक किसी ने बिजली बंद कर दी। इससे मेरी जान बच गई। लेकिन मेरे दो बेटे, तीन भाई और चाचा की मौत हो गई।

छतरपुर में करंट से 6 की मौत:सेप्टिक टैंक में उतरे परिवार के एक सदस्य को करंट लगा; एक-एक करके बचाने उतरे 5 और सदस्य भी आए चपेट में, सभी की मौत, 2 झुलसे

बिजावर के महुआझाला गांव में करंट लगने से 6 लोगों की मौत।
बिजावर के महुआझाला गांव में करंट लगने से 6 लोगों की मौत।

विजय की शादी के लिए देख रहे थे लड़की
ग्रामीणों की माने तो जिसने भी घटना देखी वह बचाने के लिए दौड़ा और जान गंवा दी। ऐसे में एक के बाद एक परिवार के छह लोगों की जान चली गई। जगन के दोनों बेटों की मौत हो गई। बड़े बेटे नरेंद्र के दो बच्चे 4 साल और 2 साल के हैं। वहीं छोटे बेटे विजय की शादी के लिए लड़की देख रहे थे। इसके अलावा रामप्रसाद के तीन बच्चे 6, डेढ साल और ढाई साल के हैं।

करंट लगने के बाद 6 लोगों के चिता जलते हुए।
करंट लगने के बाद 6 लोगों के चिता जलते हुए।

6 लोगों की मौत, 2 झुलसे
छतरपुर के बिजावर में रविवार सुबह 8 बजे सेप्टिक टैंक की सेंटरिंग खोलते समय एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि दो लोग झुलस गए हैं। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके दुख जताया है।

खबरें और भी हैं...