शासकीय जमीन पर कब्जा:पंचायत सचिव ने नाले पर तो कॉलोनाइजर ने आम रास्ते पर कब्जा कर बना लिया घर

छतरपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छतरपुर| पंचायत सचिव द्वारा नाले पर बनाया मकान। - Dainik Bhaskar
छतरपुर| पंचायत सचिव द्वारा नाले पर बनाया मकान।
  • अब शासकीय नालों और आम रोस्तों पर भी अवैध कब्जा करने वाले पीछे नहीं हट रहे
  • अधिकारियों को जानकारी होने के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही

शहर के अंदर मौजूद शासकीय जमीन पर तो प्रभावशाली लोग अतिक्रमण कर ही रहे हैं। अब तो लोगों ने आम रास्तों और शासकीय नालों पर अतिक्रमण कर अपने मकानों का निर्माण शुरू कर दिया है। इस बात की जानकारी जिला प्रशासन के अधिकारियों को होने के बाद भी वे कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं।

शहर के पन्ना रोड स्थित सिंचाई कॉलोनी के पीछे स्थित नाले पर राजनगर जनपद पंचायत में पदस्थ सचिव ने कब्जा करते हुए अपना आलीशान मकान का निर्माण कर लिया है। इस पंचायत सचिव ने इस प्रकार से मकान का निर्माण किया है कि शासकीय नाला बीच में और घर का एक दरवाजा आम रास्ते में और दूसरा रास्ता सिंचाई कॉलोनी के गोदाम परिसर में खुलता है।

इस बात की जानकारी जिला प्रशासन सहित सिंचाई विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही है। वहीं महोबा रोड पर स्थित आरटीओ कार्यालय के पास एक कॉलोनाइजर ने नेशनल हाइवे पर अपने कमान का इस प्रकार से निर्माण किया है कि आम रास्ता उसके घर के बची से होकर गुजरता है।

स्कूल संचालक ने नाले पर कब्जा कर बना लिया खेल मैदान : किशोर सागर तालाब से निकले नाले पर एक स्कूल संचालक ने कब्जा कर स्कूल परिसर का खेल मैदान बना लिया है। इसके बाद पुरानी गैस एजेंसी के पास, गायत्री मंदिर के पास और मऊदरवाजा सहित उसके नीचे की कॉलोनी के लोगों ने इस नाले पर कब्जा करते हुए अपने-अपने मकानों का निर्माण कर लिया है। इसी प्रकार शहर में पुराना पन्ना नाका स्थित नाले पर रेडियो कॉलोनी के पास के एक व्यक्ति ने कब्जा कर दुकानों का निर्माण कर लिया है। इसी प्रकार आजाद चौक के पास एक होटल संचालक और दुकानदार ने मिलकर नाले पर अतिक्रमण करते हुए नाली में बदल दिया है।

ये हैं इनके जिम्मेदार

स्थानीय राजस्व अधिकारी

क्यों : शहर के अधिकांश नालों पर लोगाें द्वारा कब्जा किए जाने के जानकारी जिला मुख्यालय के राजस्व अधिकारियों को है। इसके बाद भी यह अधिकारी मामले को टालते हुए कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। इस कारण यह लोग शहर के मुख्य नालों पर दिन प्रतिदिन कब्जा करते जा रहे हैं।

बैठक के दौरान इस मामले में कलेक्टर से चर्चा हुई है। जल्द ही अतिक्रमण चिन्हित कर इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। इस कार्रवाई के दौरान किसी भी अतिक्रमण कारी को बक्सा नहीं जाएगा।
संजय शर्मा, तहसीलदार छतरपुर

स्थानीय नगरीय निकाय

क्यों : शहर के नालों पर लगातार अतिक्रमण किया जा रहा है। इसके बाद भी छतरपुर नगर पालिका को अधिकारी राजस्व विभाग के साथ बैठक कर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। यदि आगे भी इसी प्रकार अतिक्रमण जारी रहा तो आने वाले दिनों में बारिश का पानी कहां से निकलेगा।

आम लोगाें द्वारा शहर के नालों पर अतिक्रमण किए जाने की जानकारी मेरे पास आई है। आगामी दिनों में इस संबंध में राजस्व अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए कार्रवाई की जाएगी।
ओमपाल सिंह भदौरिया, नपा सीएमओ

खबरें और भी हैं...