पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उच्च शिक्षा विभाग:महाराजा काॅलेज के यूनिवर्सिटी में विलय की प्रक्रिया शुरू, पूर्व छात्र कर रहे विराेध

छतरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूनिवर्सिटी और महाराज काॅलेज के प्रबंधन से दाेनाें संस्थाओं के इंफ्रास्ट्रेक्चर की मांगी रिपोर्ट

मप्र सरकार उच्च शिक्षा विभाग ने महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी में शहर के प्राचीन महाराजा कॉलेज के विलय की प्रक्रिया को शुरू किया है। इस प्रक्रिया के तहत महाराज कॉलेज और यूनिवर्सिटी प्रबंधन से दोनों संस्थाओं के इंफ्रास्ट्रक्चर के संबंध में रिपोर्ट मांगी गई है। शासन की ओर से शुरू की गई इस प्रक्रिया का महाराजा कॉलेज के पूर्व छात्रों ने विरोध किया है।

महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के निर्माण के लिए सरकार पिछले 7 सालों से बजट नहीं दे पा रही है। इस कारण यूनिवर्सिटी की 418 एकड़ जमीन पर निर्माण की प्रक्रिया शुरू ही नहीं हो पा रही है। अब सरकार ने यूनिवर्सिटी को बजट देने के बजाए शासकीय महाराजा काॅलेज को यूनिवर्सिटी में विलय करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ताकि यूनिवर्सिटी महाराजा कॉलेज के इंफ्रास्ट्रक्चर का उपयोग कर सके।

कुलपति ने इस प्रक्रिया से अनभिज्ञता जताई
कुलपति प्रो. टीआर थापक ने यूनिवर्सिटी में महाराजा कालेज के विलय की पक्रिया से अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा विभाग कई प्रकार की जानकारियां मांगता रहता है। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार रिपोर्ट भेजते हैं। इस कारण से उन्हें जानकारी नहीं है। उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी की अपनी जमीन है। वे अपनी जमीन पर निर्माण के लिए बजट की मांग कर रहे हैं।

महाराजा कॉलेज एक नजर में
छात्रों की संख्या - 8000
प्रोफेसर की संख्या - 81
गैर शैक्षणिक कर्मचारी - 44

पूर्व छात्र समिति ने किया विलय का विरोध कहा- महाराजा कॉलेज से निकले छात्र देश-विदेशों में अपनी ख्याति फैला रहा हैं

महाराजा कॉलेज में ऑनलाइन पूर्व छात्र सम्मेलन हुआ। यह आयोजन कॉलेज प्राचार्य डाॅ. डीपी शुक्ला की अध्यक्षता में में ऑनलाइन किया गया। कार्यक्रम पूर्व छात्र समिति अध्यक्ष डाॅ. आरसी पाठक ने कहा कि महाराजा कॉलेज से निकले छात्र देश-विदेशों में अपनी ख्याति फैला रहा हैं।

इसका गरिमापूर्ण इतिहास 140 वर्ष पुराना है। उन्होंने सभी से महाराजा कॉलेज को महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड विवि में विलय न होने देने के लिए प्रयास करने का अपील की। कार्यक्रम को लोकपाल महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड विवि और पूर्व छात्र डाॅ. केएस तिवारी ने विलय की कोशिशों पर कहा कि यह न तो लीगल है, न ही नैतिक और न ही शिक्षा की दृष्टि से उपयुक्त है।

विवि में कॉलेज का विलय होने से उन्होंने दो टूक शब्दों में इंकार किया। पूर्व प्राध्यापक डाॅ तिवारी ने महाराजा कॉलेज के और ज्यादा विकास हेतु रचनात्मक व नवाचारी प्रयासों की आवश्यकता पर बल दिया। कार्यक्रम को पूर्व डाॅ. वेद चतुर्वेदी रियूमेटोलॉजिस्ट गंगाराम हॉस्पिटल नई दिल्ली, सेवानिवृत आईएएस आरबी प्रजापति ने अपने उद्बोधन में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रेरणा देते हुए एक सटीक कार्ययोजना के तहत संस्था के विकास की बात कही।

राजेश बादल, डिप्टी कलेक्टर शिवांगी अग्रवाल, समिति सदस्य डाॅ. केके गंगेले और व्यवसायी राजेंद्र अग्रवाल ने भी अपने विचार व्यक्त किए। अध्यक्षीय उद्बोधन में प्राचार्य डाॅ. डीपी शुक्ला ने पूर्व छात्रों से कॉलेज में विकास के लिए सुझाव के साथ तन, मन और धन से सहयोग की अपील करते हुए विकास के लिए कृत संकल्पित बताया।

सदस्य डाॅ. पीएल प्रजापति ने देश के कोने कोने से पूर्व छात्र सम्मेलन में जुड़े सदस्यों का हार्दिक आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में डॉ. आरसी पाठक, ब्रजेश अग्रवाल, अरविंद गुप्ता, मनीष वर्मा, डाॅ .केबी अहिरवार, डाॅ. एचसी नायक, डाॅ. बीपी सिंह गौर, डाॅ देवेंद्र प्रजापति, डाॅ. ममता बाजपेई, डाॅ रेखा पांडे, डाॅ गायत्री, डाॅ मंजूषा सक्सेना सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें