पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागवत कथा का आयोजन:2 अप्रैल की कथा इस मुश्किल परिस्थिति से बचाने वाले कोरोना योद्धाओं को समर्पित होगी

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • संत बागेश्वर धाम के सानिध्य में एक अप्रैल से श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ व श्रीमद्भागवत कथा होगी

शहर में सागर रोड स्थित खेल ग्राम परिसर में एक अप्रैल से संत धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के सानिध्य में श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ व श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन की तैयारियां समिति द्वारा पूरी कर ली गई हैं। इस धार्मिक आयोजन के अंतर्गत सातों दिन की कथा मानवता के उत्कर्ष की मनोकामना को समर्पित होगी। आयोजन के पहले शहर में विशाल कलश यात्रा का आयोजन किया जाएगा।

स्थानीय विधायक द्वारा आयोजित इस महायज्ञ में बागेश्वर धाम के संत सातों दिन की कथा काे लेकर रूपरेखा तैयार कर चुके हैं। संत ने बताया कि पहले दिन की कथा वर्तमान में मौजूद कोरोना महामारी के संकट को हरने के लिए श्री हनुमान जी महाराज को समर्पित होगी। एक अप्रैल को कथा के शुभारंभ के साथ ही श्री हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ किया जाएगा।

दूसरे दिन 2 अप्रैल की कथा देश को इस मुश्किल परिस्थिति से बचाने वाले कोरोना योद्धाओं को समर्पित होगी। इस दिन की कथा में संत कोरोना योद्धाओं की सुख समृद्धि और स्वास्थ्य की कामना करते हुए उन्हें मंच से सम्मानित करेंगे। तीसरे दिन 3 अप्रैल की कथा सीमाओं पर डटे देश के वीर जवानों व देश के लिए बलिदान हुए शहीदों को समर्पित की जाएगी। चार अप्रैल की कथा हमारे वीर पुलिस कर्मियों को समर्पित होगी, जिनके कंधे पर समाज की सुरक्षा का भार होता है। पांचवे दिन की कथा पूरे राष्ट्र की सुख समृद्धि और वैभव की उन्नति को समर्पित होगी।

छठवें दिवस की कथा के साथ निर्धन परिवारों की कन्याओं का परिणय समारोह होगा। इसलिए यह कथा कन्याओं और देश की नारी शक्ति को समर्पित होगी। सातवें दिन की कथा का समापन संत के विराट संकल्प गौशाला नहीं उपाय, एक हिंदू एक गाय’ को समर्पित होगी। कथा की पूर्णाहुति के साथ संत के सभी श्रद्धालुओं को गाय पालने के लिए प्रेरित करेंगे। कथा के आठवें और अंतिम दिन खेल ग्राम में भंडारा व प्रसाद वितरण किया जाएगा।

सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ होगा सम्मान समारोह
श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ आयोजक और स्थानीय विधायक आलोक चतुर्वेदी ने बताया कि कथा प्रतिदिन शाम 4 बजे से रात 8 बजे तक चलेगी। इसके बाद मंच पर क्षेत्रीय बुंदेली कलाकारों द्वारा भजन, कीर्तन, लोकगीत, लोकनृत्य की मनोहारी प्रस्तुतियां दी जाएंगी। साथ ही संत के द्वारा समाज की उन लोगों को सम्मानित किया जाएगा, जिनके कार्यों से मानवता का कल्याण होता है। विधायक ने क्षेत्र के सभी श्रद्धालुओं व धर्मप्रेमी, जनमानस को कथा का लाभ लेने की अपील की है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें