आग लगने से दंपती गंभीर:​​​​​​​छतरपुर में चाय बनाते समय महिला को लगी आग, बचाने आया पति भी झुलसा

छतरपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छतरपुर में पति और पत्नी दोनों के एक साथ आग में जलने का मामला सामने आया है। दोनों गंभीर घायलों को जिला अस्पताल लाया गया है, जहां वर्न वार्ड में उनका इलाज चल रहा है।

जानकारी के मुताबिक मामला छतरपुर जिले के सटई थाना क्षेत्र के बांदनी गांव का है जहां की 21 साल की पूजा अहिरवार और उसके पति 22 साल के सोनू अहिरवार को जली हुई अवस्था और गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया है। जहां उनके जलने की वजह चाय बनाते समय चूल्हे की आग बताई जा रही है।

घायल पूजा की मानें तो मंगलवार सुबह रोजाना की तरह चाय बनने के लिए चूल्हे में लकड़ियां सुलगाने (केरोसिन) मिट्टी का तेल डाल रही थी जहां केन/कुप्पी फुल भरी होने के कारण तेल एकदम से ज्यादा गिर गया, जिससे लकड़ियों के साथ मिट्टी का चूल्हा और आस-पास की जगह तेल से भीग गई।

वहीं पूजा ने इस बात पर गौर नहीं किया कि आग भभक जाएगी और उसने माचिस की तीली से चूल्हे में आग लगाई तो तेल से भीगी पूरी जगह में भभककर आग लग गई और यह आग उसकी साड़ी में भी लग गई। इससे पहले कि वह कुछ कर पाती पूरी तरह आग की लपटों में घिर गई। बचाव की गुहार और चीत्कार सुनकर उसका पति सोनू दौड़ा आया और अपनी पत्नी को बचाने का प्रयास करने लगा तो वह भी उसके साथ बुरी तरह जल गया। दोनों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया है, जहां बर्न वार्ड में इलाज चल रहा है।

50 प्रतिशत से ऊपर बर्न हैं दोनों

मामले में घायलों का इलाज कर रहे जिला अस्पताल के वरिष्ठ सर्जन डॉ. व्हीपी शेषा की मानें तो दो दंपती जाली हुई अवस्था में अस्पताल आए हैं जिन्हें बर्न वार्ड में एडमिट किया गया है। उनके जलने का प्रतिशत 50% से ऊपर है। साड़ी में आग लगने के कारण महिला ज्यादा जल गई है। उन्हें तात्कालिक ट्रीटमेंट दे दिया गया है और उनका इलाज चल रहा है फिलहाल उन्हें रिकवर होने में टाइम लगेगा।