पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

न्याय:दो महीने से भटक रही थी महिला, सीएम से गुहार के 24 घंटे बाद ही 4 लाख रुपए मिले

छतरपुर/बिजावर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री की सभा में पति की मौत का प्रमाण पत्र और पोस्ट मार्टम रिपोर्ट की मांग लेकर पहुंची महिला को मिला न्याय

पति की मृत्यु हो जाने पर 2 माह से मृत्यु प्रमाण पत्र और पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिलने से परेशान भटक रही महिला को मुख्यमंत्री के निर्देश पर महज कुछ घंटों में पति के नाम मृत्यु प्रमाण पत्र, पोस्टमार्टम रिपोर्ट बना दी गई।

इतना ही नहीं पति की मृत्यु के बाद मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना अंतर्गत दी जाने वाली 4 लाख की अनुग्रह राशि भी 24 घंटे से पहले अवकाश के दिन रविवार को स्वीकृत कर महिला के बैंक खाते में ऑनलाइन ट्रांस्फर कर दी गई। चुनाव आचार संहिता लागू होने के बावजूद प्रशासन ने आनन फानन में कागजी प्रक्रिया को पूरा करके महिला को आर्थिक मदद पहुंचाई।

चुनावी कार्यक्रम में शामिल होने शनिवार को बकस्वाहा आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की सभा में नैनागिर थाना के खिरिया खुर्द की विधवा महिला केशरानी आदिवासी रोते हुए पहुंची थी। मुख्यमंत्री ने उसे गले लगाते हुए उसकी समस्या सुनी। महिला केशरानी ने बताया था कि उसके पति बारे लाल आदिवासी पिता गोपी आदिवासी सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

जिनका भोपाल के हमीदिया अस्पताल में इलाज के दौरान 18 अगस्त को निधन हो गया था। तभी से वह अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र और उनकी पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के लिए हमीदिया अस्पताल के चक्कर लगा रही है। लेकिन न तो उसे मृत्यु प्रमाण पत्र मिला और न ही आज तक पोस्ट मार्टम रिपोर्ट मिली।

मुख्यमंत्री चौहान ने महिला को भरोसा दिलाते हुए वहीं से अधिकारियों को निर्देशित किया। मुख्यमंत्री के निर्देश पर कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने भोपाल हमीदिया अस्पताल में बात की। शनिवार को ही नैनागिरी चौकी प्रभारी को मर्ग इंटीमेशन लेकर हमीदिया अस्पताल भोपाल भेजा गया।

जहां हमीदिया अस्पताल प्रबंधन ने शनिवार शाम को ही बारेलाल आदिवासी का मृत्यु प्रमाण पत्र और पोस्टमार्टम रिपोर्ट नैनागिर चौकी प्रभारी को सौंप दी। रविवार सुबह महिला केशरानी को पोस्ट मार्टम रिपोर्ट और पति का मृत्यु प्रमाण पत्र प्रशासन ने सौंप दिया। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर महिला केशरानी के नाम मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना के तहत 4 लाख रुपए की अनुग्रह राशि भी जारी कर दी गई।

मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत मिली राशि

गौरतलब है कि पति की मृत्यु 18 अगस्त को हो गई थी। जिसके बाद महिला ने मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत अनुग्रह राशि के लिए आवेदन किया था। लेकिन पति का मृत्यु प्रमाण पत्र और पोस्ट मार्टम रिपोर्ट न होने के कारण केस पास नहीं हो पा रहा था।

केशरानी 2 महीने से पति के मृत्यु प्रमाण पत्र और पीएम रिपोर्ट के लिए चक्कर लगा-लगा कर हार गई थी। शनिवार को बकस्वाहा में मुख्यमंत्री के सामने रोती हुई वह पहुंच गई। मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया। उनके निर्देश पर 2 माह से भटक रही विधवा को कुछ ही घंटों में न्याय मिल गया।

खाते में ट्रांसफर हुई अनुग्रह राशि

बिजावर एसडीएम डीपी द्विवेदी ने बताया कि दुर्घटना से मृत्यु होने पर मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना अंतर्गत दी जाने वाली 4 लाख रुपए की अनुग्रह राशि 18 अक्टूबर को ही स्वीकृत की गई। स्वीकृत राशि मृतक की पत्नी के बैंक खाते में ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत ट्रांस्फर कर दी गई है।

एक्सपर्ट व्यू : प्रकरण पुराना इसलिए आचार संहिता का उल्लंघन नहीं
चूंकि दुर्घटना अगस्त माह की है। संबल योजना का प्रकरण भी तभी से लंबित था। ऐसी स्थिति में यदि विधवा महिला को योजना के तहत राशि स्वीकृत की गई है। प्रशासन ने स्वीकृत प्रकरण के तहत कार्रवाई की है। इस कारण इसे आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता।

-ओपी सोनी, वरिष्ठ अधिवक्ता

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें