पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

थोड़ी राहत:संक्रमण घटने से शहर के तीन कोविड सेंटर हुए खाली, आइसोलेशन वार्ड में भी सिर्फ 35 प्रतिशत मरीज

छतरपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 7 अक्टूबर से अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 100 से नीच चल रही है

काेरोना संक्रमित मरीजों में लगातार कमी आने से जिला मुख्यालय स्थित 88 बिस्तर के तीन कोविड केयर सेंटर अब खाली हो गए हैं। जबकि जिला अस्पताल स्थित प्री-आइसोलेशन और आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या में 65 फीसदी तक की गिरावट आई है।

जिले में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में गिरावट आने से स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन सहित आम लोगों को राहत है। अक्टूबर माह शुरू होते ही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में गिरावट आना शुरू हो गई। इसलिए आज जिले में कोरोना एक्टिव केस की संख्या घटकर 60 से 70 के करीब बनी हुई है।

जिले में लगातार पॉजिटिव मरीज घटने सागर रोड स्थित 8 बिस्तर का कोविड केयर सेंटर पिछले एक माह से खाली पड़ा हुआ है। वहीं महोबा रोड स्थित 80 बिस्तर के दो कोविड केयर सेंटर पिछले 3 दिनों से खाली हैं। वहीं जिला अस्पताल स्थित 25 बिस्तर के आइसोलेशन वार्ड में सिर्फ 10 और 10 बिस्तर वाले प्री-आइसोलेशन वार्ड में 4 मरीज भर्ती हैं। जिले में लगातार कोरोना संक्रमण घटने से लोगों को राहत है।

मरीजों के होम आइसोलेट होने का मिला फायदा

पिछले दिनों कोविड-19 नियमों में बदलाव करते हुए स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमितों को घर पर व्यवस्था होने पर होम आइसोलेट रहने की अनुमति दी। इससे प्रशासन के साथ ही आम लोगों को सुविधा हुई। इसका फायदा यह हुआ कि आज जिले में कोरोना एक्टिव केस की संख्या 100 से नीचे बनी हुई है। वर्तमान स्थिति के अनुसार जिले में एक्टिव केस 63 हैं, जिसमें से 23 व्यक्ति आज अपने घर पर होम आइसोलेट हैं। बाकी के संक्रमित जिले भर के विभिन्न कोविड सेंटर में अपना इलाज करा रहे हैं।

88 बिस्तरों के तीन काेविड केयर सेंटर पड़े खाली

जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले के कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती कर इलाज देने के लिए शहर के महोबा रोड पर दो और सागर रोड पर एक कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। जिले में लगातार संक्रमितों की संख्या घटने से अब यह तीनों कोविड सेंटर पूरी तरह से खाली पड़े हुए हैं।

सागर रोड स्थित ढड़ारी कोविड सेंटर 8 बिस्तरों का है जो पिछले एक माह से खाली पड़ा हुआ है। वहीं महोबा रोड पर 40-40 बिस्तरों के दो कोविड सेंटर स्थापित हैं, जो पिछले तीन दिनों से खाली पड़े हुए हैं।

आइसोलेशन में 10 और प्री-आइसोलेशन वार्ड में 4 मरीज

जिला अस्पताल में संदिग्ध कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए प्री-आइसोलेशन वार्ड और पॉजिटिव मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड प्रबंधन द्वारा स्थापित किया गया है। आइसोलेशन वार्ड में 25 पॉजिटिव मरीजों के भर्ती करने की क्षमता है, जिसमें से रविवार को सिर्फ 10 मरीज ही भर्ती बचे हैं। वहीं प्री-आइसोलेशन वार्ड 10 बिस्तरों को बनाया गया है, जिसमें आज की स्थिति में सिर्फ 4 ही मरीज भर्ती हैं। इस प्रकार देखा जाए तो दोनों वार्डों 65 प्रतिशत के करीब खाली पड़े हुए हैं।

6 निकले पॉजिटिव, 4 मरीज हुए डिस्चार्ज

जिले में रविवार की देर शाम तक सागर लैब और जिला अस्पताल की एंटिजन किट रिपोर्ट में 6 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। जिसमें से छतरपुर शहर के 5 और बड़ामलहरा में एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया।

वहीं स्वस्थ होने पर रविवार को लवकुशनगर से 2, नौगांव से एक और छतरपुर से एक व्यक्ति स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। जिसमें से छतरपुर और लवकुशनगर के 3 संक्रमितों को होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किया गया, वहीं नौगांव के मरीज को कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया।

18 दिन में सिर्फ 2 संक्रमितों की हुई मौत

जिले में कोरोना संक्रमण से अब तक 31 लोगों की मौत हुई है। जिसमें सबसे अधिक 15 संक्रमितों की मौत सिर्फ सितंबर माह में हुई। वहीं अक्टूबर माह के 18 दिनों से सिर्फ 2 लोगों की मौत हुई है। कोरोना संक्रमण से जुलाई माह से 9, अगस्त में 5, सितंबर में सबसे अधिक 15 और इस माह अक्टूबर माह में सिर्फ 2 लोगों की मौत हुई है। इस माह में 6 अक्टूबर की देर रात बकस्वाहा के 45 वर्षीय और 8 अक्टूबर की देर शाम राजनगर क्षेत्र में चंद्रनगर के 90 वर्षीय वृद्ध की सागर मेडिकल कॉलेज में मौत हुई।

कोराेना अपडेट

कुल पॉजिटिव : 1422

ठीक हो गए
1328
कुल मौत
31
नए पॉजिटिव
06
एक्टिव केस
65
कुल सैंपल
33800
निगेटिव
31652
रिपोर्ट पेंडिंग
371
प्रवासी
63

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें