पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना वैक्सीनेशन:ढाई माह बीता, जिले में आधा प्रतिशत भी नहीं हुआ कोरोना का टीकाकरण

छतरपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले की आबादी 20 लाख, अब तक मात्र 9859 लोगों को कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगे
  • जिले में अभी तक 78 हजार 559 लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगाया
  • लाेग वैक्सीनेशन कराने के चक्कर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे

जिले की आबादी 20 लाख से अधिक है। इसमें 10 हजार से कम लोगों को कोरोना का सेकेंड डाेज पिछले ढ़ाई माह में लग पाया है। इस हिसाब से अब तक जिले में आधा प्रतिशत से भी कम लोगों का कोविड-19 वैक्सीनेशन का कार्य पूरा हो पाया है। यदि वैक्सीनेशन का गति इसी प्रकार से चलते रही तो वैक्सीनेशन कार्य पूरा होने में महीनों नहीं सालों लग जाएंगे। 16 जनवरी 21 से स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में विभिन्न केंद्र स्थापित कर कोविड-19 वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है।

स्वस्थ्य विभाग के अनुसार अब तक 8454 हैल्थ वर्कर्स ने फस्ट और 6180 ने सेकेंड डोज लगवाया, जबकि 5966 फ्रंटलाइन वर्कर्स ने फस्ट और 3679 कर्मचारियों ने सेकेंड डोल लगवाते हुए वैक्सीनेशन कराया। वहीं 45 से 60 वर्ष तक के 54526 व्यक्तियों द्वारा पहला टीका लगवाते हुए वैक्सीनेशन कराया गया। इस प्रकार अब तक जिले के 68703 व्यक्तियों को पहला टीका और 9856 व्यक्तियों को दूसरा टीका लगाया गया। इन आंकड़ों के हिसाब से दूसरा टीका 9856 व्यक्तियों द्वारा लगवाया गया, जिसे हम कंप्लीट टीकाकरण मान सकते हैं। इस प्रकार जिले में मौजूद 20 लाख की आबादी में सिर्फ आधा प्रतिशत का ही कंप्लीट टीकाकरण हो पाया है।

वैक्सीनशन के बाद लोगों का ऑब्जर्वेशन नहीं कर रहे डॉक्टर

इन दिनों जिला अस्पताल में 45+ सहित अन्य लोगाें का कोरोना वैक्सिनेशन चल रहा है, इस दौरान वैक्सीन लगने के बाद लाेगाें को डॉक्टर की निगरानी आध घंटे ऑब्जरवेशन में न रखे बिना तुरंत घर भेजा जा रहा है। जबकि स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार, हितग्राहियों को टीका लगने के बाद आधे तक डॉक्टर की निगरानी में ऑब्जरवेशन में रखा जाता है। पर जिला अस्पताल के डॉक्टर कोरोना वैक्सिनेशन की गाइडलाइन का पालन न करते हुए लाेगाें को तुरंत ही घर भेज रहे हैं।

जिला अस्पताल स्थित केंद्र में वैक्सिनेशन कराने पहुंचे सीताराम कॉलोनी निवासी राजेंद्र चौरसिया ने बताया कि रजिस्ट्रेशन करने के बाद मेडिकल टीम ने उन्हें वैक्सीन लगाई। इसके 10 मिनट बाद ही डॉक्टर ने उन्हें बुखार की दवाई देते हुए घर जाने को कह दिया। ओपी झा ने बताया कि उनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक होने के बाद भी डॉक्टर ने उन्हें ऑब्जरवेशन में नहीं रखा और बुखार की दवा देते हुए उन्हें घर जाने दिया।

वैक्सिनेशन केंद्र पर नहीं हो रहा नियम का पालन
जिले में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन लगातार लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की अपील कर रहा है। वहीं दूसरी और जिला अस्पताल स्थित केंद्र पर कोरोना वैक्सिन लगवाने पहुंचे लाेग जल्द से जल्द वैक्सीनेशन कराने के चक्कर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। केंद्र पर रजिस्ट्रेशन कराने के दौरान लाेगाें की लंबी लाइन लगी रहती है और लोग एक दूसरे के नजदीक खड़े रहते हैं। जिसमें केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा। इस बात की जानकारी स्वस्थ्य विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है।

12 निकले नए संक्रमित, छतरपुर शहर के 6 मरीज
सागर कोरोना लैब द्वारा मंगलवार को 135 सैंपल की जांच रिपोर्ट स्थानीय स्वस्थ्य विभाग को दी गई। इसमें छतरपुर शहर में कमला कॉलोनी, मिशन अस्पताल की स्टाफ नर्स, सिंचाई कॉलाेनी, बजरंग नगर, आजाद चौक सहित न्यू कॉलोनी में एक-एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया। इसके साथ ही बकस्वाहा कस्बे में वार्ड नंबर 3 में एक ही परिवार के 3, ईशानगर और लवकुशनगर में एक-एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला। मंगलवार को जिले में एक साथ 12 व्यक्ति पॉजिटिव पाए जाने से संक्रमितों की संख्या 2204 पहुंच गई है। अब एक्टिव केस की संख्या बढ़कर जिले में 94 पहुंच गई है। जबकि 6 कोरोना संक्रमितों की हालत गंभीर होेने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें