पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन की कार्रवाई:समर्थन मूल्य पर बिकने यूपी से आ रहा गेहूं, हरपालपुर खरीदी केंद्र पर पकड़ा गया, जब्त

छतरपुर/ हरपालपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हरपालपुर के लक्ष्मी वेयर हाउस में आया था 35 क्विंटल गेहूं, ट्रैक्टर को थाने में रखवाया

कोरोना कर्फ्यू का फायदा उठा कर व्यापारी और किसान यूपी से गेहूं लाकर यहां एमपी के खरीदी केंद्रों पर स्थानीय किसानों के पंजीयन पर बेचते हैं। बीते रोज यूपी से ट्रैक्टर में हरपालपुर बिकने के लिए आए व्यापारियों के 35 क्विंटल गेहूं को नौगांव तहसीलदार ने पहुंच कर जब्त किया। वहीं ट्रैक्टर को थाने में खड़ा करवाया है। यूपी से जुड़े खरीदी केंद्रों पर बड़ी मात्रा में व्यापारी गेहूं लाकर यहां के किसानों के पंजीयन पर बेच कर मुनाफा कमा रहे है।

खरीदी केंद्र प्रभारी भी इन व्यापारियों से सेंटिंग कर उनका गेहूं खरीद रहे हैं। बीते रोज एक ट्रैक्टर में व्यापारी यूपी का 35 क्विंटल गेहूं लेकर आए। यह गेहूं हरपालपुर के मां लक्ष्मी वेयर हाउस खरीदी केंद्र पहुंचा। इसकी तौल होने वाली थी कि तभी अचानक नौगांव तहसीलदार पीयूष दीक्षित अपने साथ फूड इंस्पैक्टर ऋषि शर्मा, आरआई डीपी गुप्ता, हल्का पटवारी लुगासी प्रभारी जमुना प्रसाद अनुरागी, सदर पटवारी आशीष पांडे सहित राजस्व अमले को लेकर निरीक्षण करने मां लक्ष्मी वेयर हाउस पहुंचे।

सीमा सील, फिर भी गेहूं लेकर आ रहे व्यापारी
टीम को देख सभी के हाथ पांव फूल गए। यहां यूपी का गेहूं तुलने ही वाला था, कि ऐन वक्त पर पहुंच कर तहसीलदार ने गेहूं लेकर आए ट्रैक्टर चालक वीरेंद्र यादव से पूछताछ की तो उसने बताया कि यह गेहूं यूपी से यहां बिकने के लिए आया है। इस गेहूं के दस्तावेज भी नहीं मिले। मौके पर इसे लाने वाले व्यापारी गायब हो गए। तहसीलदार ने तत्काल 35 क्विंटल यूपी का गेहूं जब्त किया और ट्रैक्टर को थाने में खड़ा करवाया। इस समय कोरोना कर्फ्यू के तहत कलेक्टर ने यूपी एमपी सीमा पर आवागमन प्रतिबंधित कर दिया है। सीमा पर कड़ी चौकसी लगाई गई है। इसके बावजूद यह व्यापारी वाहनों में गेहूं लेकर एमपी की सीमा प्रवेश कर रहे हैं।

सीमा से लगे खरीदी केंद्रों में आता है यूपी का गेहूं
जैसे ही गेहूं की खरीदी शुरू होती है, यहां के व्यापारी सक्रिय हो जाते हैं। वह बड़े पैमाने पर यूपी के किसानों से सस्ते रेट में गेहूं खरीद कर लाते हैं और फिर यहां के किसानों पंजीयन पर गेहूं बेच देते हैं। इससे वह मौटा मुनाफा कमा रहे हैं। व्यापारियों का यह गोरखधंधा यूपी सीमा से लगे खरीदी केंद्रों पर चलता है। इस पर प्रशासन रोक नहीं लगा पा रहा है।
तहसीलदार ने कहा-आरोपियों पर होगी कार्रवाई
तहसीलदार पीयूष दीक्षित ने बताया जब खरीदी केंद्र पर निरीक्षण करने पहूंचे तो टैक्टर में करीब 35 क्विंटल गेंहू बेचने यूपी से आया था। जब पूछताछ की गई तो यूपी का पता लगा टैक्टर गेहूं तुलाई के लिए यूपी से आया था। हमने थाने में ट्रैक्टर को थाने में खड़ा करवा दिया। कलेक्टर के निर्देशानुसार संबंधित आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...