पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अपहरण कर दुष्कर्म:नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म के आरोपी को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा

दमोह10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • न्यायालय ने तीन एक्ट के अपराध का दोषी माना, न्यायाधीश ने तीन स्पेशल टिप्पणी भी दीं
  • 15 वर्षीय नाबालिग को भगा ले गया था आरोपी, शादी कर साथ रखे रहा

नाबालिग काे बहला फुसलाकर भगा ले जाने और दुराचार करने के आरोपी को विशेष न्यायाधीश आरएस शर्मा ने अंतिम सांस तक जेल में रहने और जुर्माने से दंडित किया है। मामले में न्यायाधीश ने तीन विशेष टिप्पणी लिखी हैं। जिसमें उन्हाेंने आराेपी काे बचाने के लिए दी गईं दलीलों को नकारा और कठोर दंड दिया। अभियोजन अनुसार 15 वर्षीय नाबालिग पीड़िता कुछ दिनों से अपने मामा के यहां रह रही थी। 3 अप्रैल 2018 को घर में बिना बताए कहीं चली गई, काफी ढूंढने का प्रयास करने के बाद भी जब पीड़िता उसके मामा को नहीं मिली तो मामा द्वारा थाना नोहटा में उसके गुम हो जाने के संबंध में रिपोर्ट लिखाई गई। लगभग एक माह बाद पुलिस ने पीड़िता को जिला रायसेन से बरामद कर दमोह लाकर चिकित्सीय परीक्षण कराकर उसके कथन लेने के बाद माता-पिता को सौंप दिया।

इसके तीन दिन बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। नाबालिग पीड़िता ने न्यायालय और पुलिस के समक्ष बताया कि आरोपी से उसकी पहचान तेजगढ़ बाजार में हुई थी और एक वर्ष तक वह उससे मोबाइल पर बात करता रहा था।

3 अप्रैल 2018 को जब वह अपने मामा के यहां थी, तब उससे शादी करने का कहकर आरोपी अपने साथ जबलपुर ले गया, वहां नर्मदा जी के मंदिर में शादी करने के बाद जिला रायसेन ले गया और जिला रायसेन के एक गांव में किराए का मकान लेकर उसे अपनी पत्नी की तरह संबंध बनाते हुए रखे रहा।

10 साक्षियों को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया
प्रकरण में साक्ष्य के दौरान घटना के समर्थन में शासकीय अभिभाषक राजीव बद्री सिंह ठाकुर द्वारा 10 साक्षियों को न्यायालय के समक्ष पेश किया। न्यायालय द्वारा प्रकरण में प्रस्तुत साक्षी की साक्ष्य एवं अभियोजन द्वारा प्रस्तुत तर्कों से सहमत होते हुए आरोपी उमेश उर्फ रमेश चक्रवर्ती को एससीएसटी के धारा 3(2)5 में आजीवन कारावास साथ ही भादंवि की धारा 366 में पांच वर्ष, पॉक्सो एक्ट की धारा 6 में दस वर्ष एवं 1250 रुपए के जुर्माने से दंडित किया है। आरोपी प्रकरण के विचारण के दौरान लगभग 2 साल से जेल में ही बंद रहा। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते हाईकोर्ट के आदेश से प्रकरण में अंतिम तर्क एवं दंड के प्रश्न पर पक्षकारों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुना गया। मामले की पैरवी विशेष लोक अभियोजक राजीव बद्री ठाकुर ने की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें