जिनसे भितरघात का डर था, अब वही लगाएंगे नैया पार!:दमोह उपचुनाव से 5 दिन पहले BJP ने खेला मलैया कार्ड; सभाओं के लिए पूर्व मंत्री जयंत को हेलीकॉप्टर सुविधा, बेटे सिद्धार्थ को शहर का प्रभार

दमोह/जितेंद्र तिवारी9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सभा के लिए हेलीकॉप्टर में सवार जयंत मलैया और अन्य नेता। - Dainik Bhaskar
सभा के लिए हेलीकॉप्टर में सवार जयंत मलैया और अन्य नेता।

भाजपा ने फिर अपने अंदाज में दमोह उपचुनाव की हवा बदलने की कोशिशें तेज कर दी हैं। चुनाव से ठीक पांच दिन पहले वहां जयंत मलैया कार्ड खेल दिया गया। जिनसे भितरघात का डर था, अब पार्टी ने उन्हें जीत के लिए खेवनहार मानकर जवाबदारी सौंप दी है। जयंत मलैया को दौरों और सभाओं के हेलिकॉप्टर सुविधा दी है, तो उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया को दमोह शहर का पूरा प्रभार सौंप दिया है। उपचुनाव भाजपा और कांग्रेस के लिए साख का चुनाव बन गया है। उधर, कांग्रेस ने कथावाचक रामसिया भारती को उतारा है। राम नाम के जरिए वोटर्स के बीच पहुंचने की प्लानिंग है।

पूर्व मंत्री पिता जयंत मलैया और बेटे सिद्धार्थ मलैया का वीडियो जारी कराए जा रहे हैं। मतदाताओं से भाजपा के पक्ष में वोट मांगा जा रहा है। भूपेंद्रसिंह और गोपाल भार्गव को पहले से ही उतारा जा चुका था, लेकिन अब जयंत मलैया परिवार को आगे किया गया है। भाजपा मतदाताओं को यह साफ मैसेज देना चाहती है कि मलैया परिवार भाजपा के साथ है। पार्टी की जीत दिलाने के लिए मैदान में खड़ा है। उपचुनाव में पूर्व मंत्री जयंत मलैया टिकट के दावेदार थे, लेकिन पार्टी ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए राहुल सिंह पर भरोसा जताया। इसी के चलते जयंत मलैया के समर्थकों में नाराजगी है। यह भितरघात में बदल सकती है।

यहां 17 अप्रैल को मतदान होना है। इसके पहले पार्टियां मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए जुटी है।

समाज की बैठकों को प्राथमिकता, सभाओं में रिझाने की कोशिश

चुनाव प्रचार के दौरान दोनों ही पार्टियों ने अपनी रणनीति बदली है। कांग्रेस हो या भाजपा, मतदान की तारीख नजदीक आते देख अब समाजों को साधने में जुट गई है। अलग-अलग समाजों में अपनी अच्छी पकड़ रखने वाले नेता समाजों की बैठक बुलाकर उन्हें अपने पक्ष में मतदान करने की बात कह रहे हैं। वहीं, स्टार प्रचारक कद्दावर नेता जयंत मलैया की सभाएं कराई जा रही हैं। क्योंकि दमोह विस क्षेत्र में उनका दबदबा है।

समाजों के बीच पहुंचेंगे CM

चुनाव के चलते सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दमोह पहुंचे हैं। वह दिनभर यहां रहेंगे और समाजों के बीच पहुंचकर भाजपा के लिए मतदान की अपील करेंगे। सीएम के कार्यक्रम के अनुसार वह दोपहर 12 बजे दमोह के बांदकपुर पहुंचे। जहां उन्होंने भगवान जागेश्वर नाथ मंदिर में दर्शन कर पूजा की। इसके बाद वह दोपहर 2.30 बजे से रात 9 बजे रजक समाज का कार्यक्रम, मसीही समाज सम्मेलन, अनुसूचित जाति मोर्चा सम्मेलन, कर्मकांडी पंडितों की बैठक, सिंधी समाज का सम्मेलन, स्वर्णकार समाज सम्मेलन समेत अन्य कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। सीएम के कार्यक्रम से स्पष्ट है कि पार्टी ने अब समाजों को साधने को प्रयास शुरू कर दिया है।

कांग्रेस को साध्वी रामसिया भारती पर भरोसा

इधर, दमोह उपचुनाव में जीत के लिए कांग्रेस भी हर दांव आजमाने की तैयारी में है। कांग्रेस पार्टी ने स्टार प्रचारकों में कथा वाचक साध्वी रामसिया भारती का नाम शामिल किया है। पार्टी राम नाम का जाप करने की तैयारी कर रही है। वहीं साध्वी रामसिया की राजनीतिक क्षेत्र में अच्छी पकड़ है। ऐसे में स्टार प्रचारक के रूप में उनके प्रचार करने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है। हालांकि यह तो मतदान के बाद परिणाम आने पर ही पता चलेगा।

खबरें और भी हैं...