पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान पिटाई मामला:खेत मालिक सहित 5 पर आत्महत्या के लिए उकसाने का केस, 4 गिरफ्तार

दमोहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी खेत मालिक कैलाश सिंघई व लाल शर्ट में उसका भाई संजय सिंघई। - Dainik Bhaskar
आरोपी खेत मालिक कैलाश सिंघई व लाल शर्ट में उसका भाई संजय सिंघई।
  • एसपी ने तेंदूखेड़ा एसडीओपी को साैंपी टीआई व अमले की भूमिका की जांच

तेजगढ़ थाने के ग्राम पतलोनी में उड़द की उपज के बाद बटाई के विवाद पर किसान द्वारा आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने खेत मालिक उसके 3 भाई और एक भतीजे के खिलाफ धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उसकाने का मामला दर्ज किया है। जिसमें चार भाइयों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

जबकि खेत मालिक का बेटा फरार हो गया है। हालांकि मृत किसान की पत्नी की ओर से दी गई शिकायत में आरोपियों के अलावा थाना प्रभारी सहित 10 नामों का उल्लेख किया गया था। जिसमें से केवल एक आरक्षक को गुरुवार को लाइन अटैच किया गया। बाकी पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई है। एसपी डीआर तेनीवार ने तेंदूखेड़ा एसडीओपी को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। तेजगढ़ थाना प्रभारी ब्रजेश पांडे ने बताया कि पतलाेनी निवासी किसान किशोर सिंह उर्फ बबलू लोधी 50 ने बुधवार को देर शाम जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। महिला की रिपोर्ट पर जमीन के मालिक कैलाश सिंघई, मंझले भाई विनोद सिंघई, संझले भाई राजेश सिंघई और छोटे भाई संजय सिंघई को गिरफ्तार किया गया है।

जबकि कैलाश सिंघई का बेटा गोलू सिंघई फरार हो गया है। चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। इस मामले को दैनिक भास्कर ने शुक्रवार के अंक में बटाई में एक क्विंटल उड़द पर लिया था खेत, फसल अच्छी आई तो खेत मालिक ने 10 क्विंटल मांगी, थाने पहुंचे किसान को आरक्षकों ने पीटा, जहर खाया, मौत शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

इसके बाद एसपी ने तेंदूखेड़ा एसडीओपी को मामले की जांच सौंपी है। इधर तेजगढ़ में आरोपी कैलाश सिंघई के निवास पर भारी संख्या में पुलिस तैनात की गई है। यहां पिछले दो दिन से पुलिस का पहरा है।

थाना प्रभारी से लेकर 9 लोगों के नाम आवेदन में, कार्रवाई सिर्फ खेत मालिक व उसके भाई पर
किसान बबलू के आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी ललता बाई के आवेदन पर खेत मालिक कैलाश सिंघई, विनोद सिंघई, राजू सिंघई, गोलू सिंघई और संजय सिंघई के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। जबकि आवेदन में 10 लोगों के नाम का उल्लेख किया गया था।

जिसमें स्वयं थाना प्रभारी ब्रजेश पांडे, आरक्षक राजू सेन, गौरव शुक्ला, एनएस ठाकुर सहित चार अन्य पर आरोप लगाए गए थे। जिसमें से पुलिस ने केवल जमीन मालिक सहित पांच लोगों को पर मामला दर्ज किया है। जबकि केवल आरक्षक राजू सेन को किसान की पिटाई करने के मामले में लाइन अटैच किया है। थाना प्रभारी ब्रजेश पांडे ने बताया कि मर्ग डायरी के हिसाब से एफआईआर दर्ज की गई है। जिसमें धारा 306 और धारा 34 लगाई गई है।

खबरें और भी हैं...