गोकुल धाम की तर्ज पर / गो-शालाओं की दीवारों पर आकर्षण पेंटिंग

Charm painting on the walls of go-go schools
X
Charm painting on the walls of go-go schools

  • 21 गौशालाओं का होना है निर्माण, 8 से ज्यादा कंपलीट हो गईं

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

दमोह. जिले में मनरेगा से बन रही 21 गोशालाओं में से 8 कंपलीट हो गई हैं, जबकि 13 गो-शालाओं का काम चल रहा है। जो गोशालाएं कंपलीट हो रही हैं, उनकी दीवारों पर पेटिंग का काम किया जा रहा है, यह पेटिंग लोगों को आकर्षित कर रही हैं। अब तक तीन गोशालाओं में पेटिंग का काम किया जा चुका है। 

मौसीपुरा में गोशाला का काम पूरा होने के बाद अब दीवारों पर पेटिंग की जा रही है। पेटिंग को कुछ इस तरह से किया जा रहा है, जिसे देखकर गोकुल धाम की यादें ताजा हो रही हैं। किसी दीवार पर भगवान श्रीकृष्ण गायों की सेवा कर रहे हैं, तो किसी पेटिंग में उनकी गायों के साथ अठखेलियां दिखाईं दे रही हैं। मौसीपुरा में पेटिंग का काम कर रहे पेंटर तरुण नामदेव ने बताया कि अभी पेटिंग का काम पूरा नहीं हुआ है।

सभी दीवारों पर अलग-अलग तरह की पेटिंग की जा रही हैं। गो-शाला के लिए गोकुलधाम की फीलिंग देने के लिए इस तरह की पेटिंग कराई जा रही है। इस तरह जहां-जहां पेटिंग हो गईं हैं, वहां पर लोगों के लिए गो-शालाएं आकर्षित कर रही हैं। यहां पर बता दें कि कांग्रेस की सरकार में जिले में मनरेगा मद से 21 गोशालाओं का निर्माण कराए जाने का लक्ष्य रखा गया था। इसमें मनरेगा और वेटरनरी विभाग का सहयोग लिया जाना था।

पिछले एक साल से चल रहा गोशालाओं का काम अब पूरा होने जा रहा है। मनरेगा अधिकारी अभिलाषा तिवारी ने बताया कि जिले में 21 गोशाला बनाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसमें से 8 कंपलीट हो गई हैं। 10 गोशाला एक सप्ताह में तैयार हो गईं। जबकि बांसा, नरसिंहगढ़, जागूपुरा में 15 दिन के अंदर गोशाला पूर्ण होकर समितियों के सुपुर्द की जाएंगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना