रैन बसेरा:बस स्टैंड पर 1 साल से निर्माण अधूरा, अस्पताल में 10 माह से लगा ताला, कुर्सियों पर सोते हैं अटेंडर

दमोह2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कड़ाके की ठंड चालू हो गई है, लेकिन जरूरतमंदों को रैन बसेरा की सुविधा नहीं मिल पा रही है। शहर में बस स्टैंड और जिला अस्पताल परिसर के सीएमएचओ कार्यालय के बाजू में नगरपालिका के दो रैन बसेरा हैं और दोनों लंबे समय से बंद हैं। इनका लाभ जरूरतमंदों को नहीं मिल पा रहा है।

जिला अस्पताल परिसर में बना रैन बसेरा पिछले 10 माह से बंद है। यहां पर पंखे चल रहे हैं और बाकायदा लाइटें चालू हैं, लेकिन बसेरा पर ताला लटका हुआ है। इसी तरह प्राइवेट बस स्टैंड पर पुराना रैन बसेरा तोड़कर नए सिरे से बनाया जा रहा है। बिल्डिंग भी कंपलीट हो गई है, लेकिन यहां फिनिशिंग का काम पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे में उन लाेगों को परेशानी जा रही है, जो रात में जिला मुख्यालय पहुंचते हैं, लेकिन उन्हें कोई सुविधा नहीं मिल पाती है और किराए के होटल या फिर लॉज में ठहरना पड़ता है।

कोरोना काल में ताला लगा तो खोला ही नहीं
जिला अस्पताल में रैन बसेरा कोरोना संक्रमण के बीच बंद कर दिया गया था। इसमें मरीजों को शिफ्ट करने की प्लानिंग चल रही थी, सिविल सर्जन ने नगरपालिका को पत्र लिखकर भवन खाली करा लिया और पलंग भी शिफ्ट करा दिए, लेकिन उसे चालू नहीं किया, वर्तमान में भवन पर बाहर से ताला पड़ा है और अंदर पंखे चल रहे हैं, कुछ पंखे निरंतर चलने के बाद जल गए हैं तो कुछ चालू हैं।

इस भवन में पहले मरीजों के अटेंडरों को रात में ठहरने की सुविधा मिलती थी, लेकिन अब यह सुविधा नहीं मिल रही है। जो मरीजों के साथ अटेंडर आते हैं। वे अब मरीजों के आसपास या वार्ड परिसर में ही रात में सोते हैं। कई अटेंडर तो परिसर में बैठने के लिए लगी आयरन कुर्सियां पर सो जाते हैं। ऐसे में मरीज के परिजनों को बैठने के लिए जगह ही नहीं बचती है। सुबह की स्थिति सबसे ज्यादा खराब देखने को मिलती है। हर वार्ड और परिसर में अटेंडर कहीं जमीन पर तो कहीं कुर्सी पर सोते हुए दिखते हैं।

धीरे-धीरे चल रहा निर्माण, नपा को भी जानकारी नहीं
इधर प्राइवेट बस स्टैंड पर पुराना रैन बसेरा तोड़कर उसकी जगह नई बिल्डिंग बनाई जा रही है। जिस स्थान पर बिल्डिंग बनाई जा रही है। उसके बाजू में पीछे अतिक्रमण कर लिया गया है। नाला पर एक कक्ष बनाया गया है, जबकि बिल्डिंग के पीछे नाला पर दुकान बनाने का काम चल रहा है। चोरी छिपे यहां पर काम चल रहा है, लेकिन नगरपालिका को इसकी कोई जानकारी नहीं है। काम में देरी के चलते करीब एक साल निर्माण कार्य पिछड़ गया है, वर्तमान में काम नहीं चल रहा है, जिससे इस सीजन में रैन बसेरा कंपलीट होना मुश्किल है।

यदि फिलहाल बस स्टैंड पर यात्रियों और जिला अस्पताल में अटेंडरों के सामने ठंड के सीजन में मुसीबत बरकरार है। जिला अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी ने बताया कि रैन बसेरा कोविड के समय खाली कराया गया था, फिलहाल उसका कोई काम नहीं है। रैन बसेरा चालू कराने के लिए सीएमओ को पत्र लिखेंगे। इधर नगरपालिका सीएमओ भैया लाल सिंह का है कि रैन बसेरा बंद होने के संबंध में कोई जानकारी नहीं हैं। मैं एक बार स्वयं रैनबसेरा का निरीक्षण करने जाउंगा। जो कमी होगी उसे दूर करने का प्रयास करेंगे।

खबरें और भी हैं...