चुनाव के बीच दमोह में बढ़ा कोरोना संक्रमण:कोरोना संदिग्ध मरीज की इलाज के दौरान मौत, अंतिम संस्कार में परिजन ने बनाई दूरी

दमोह8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना संदिग्ध का अंतिम संस्कार करने लकड़ियां जमाते हुए परिजन। - Dainik Bhaskar
कोरोना संदिग्ध का अंतिम संस्कार करने लकड़ियां जमाते हुए परिजन।

दमोह में चुनावी माहौल के बीच कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। रोजाना नए कोरोना संक्रमित मिलने के साथ मरीजों की मौत हो रही। रविवार को कोरोना पॉजिटिव महिला मरीज की मौत के बाद सोमवार को कोरोना संदिग्ध पुरुष मरीज की मौत हो गई। कोरोना संक्रमण के चलते मृतक का अंतिम संस्कार कोरोना गाइडलाइन के तहत किया गया। इस दौरान परिजन को अंतिम संस्कार से दूर रखा गया। करीब चार परिजन ही मुक्तिधाम पहुंचे। सूचना के अनुसार 60 वर्षीय बुजुर्ग की तबीयत बिगड़ने पर रविवार को परिजन ने दमोह के निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए। वहीं सीटी स्कैन की जांच में बुजुर्ग के फेफड़ों में संक्रमण होना सामने आया। इसी बीच सोमवार दोपहर करीब 12 बजे कोरोना संदिग्ध मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मौत होने पर परिजन शव लेकर सुरेखा कॉलोनी स्थित मुक्तिधाम अंतिम संस्कार के लिए लेकर पहुंचे। अंतिम संस्कार में करीब चार परिजन शामिल हुए। उन्होंने सावधानी बरतते हुए मृतक का अंतिम संस्कार किया। मामले में मृतक की कोरोना जांच रिपोर्ट आना बाकी है।

रविवार को 41 पॉजिटिव मिले, अब तक 3615 मरीज आए सामने

दमोह में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढता जा रहा है। बावजूद इसके प्रशासन संक्रमण की रोकथाम के लिए सख्त कदम नहीं उठा रहा है। स्थिति यह है कि पिछले 11 दिनों में दमोह में 312 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं रविवार को इस वर्ष के सबसे ज्यादा 41 नए संक्रमित सामने आए। इस प्रकार दमोह जिले में अब तक 3615 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। जबकि करीब 115 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...