• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Damoh
  • Damoh Tops In Female Sterilization, 7211 Operations Have Been Done So Far, But Only 14 Male Sterilizations Have Been Done

परिवार नियोजन:महिला नसबंदी कराने में दमोह प्रदेश में अव्वल, अब तक 7211 ऑपरेशन हुए, लेकिन केवल 14 पुरुष नसबंदी हुई

दमोह19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महिला नसबंदी में जिला प्रदेशभर में पहले स्थान पर है। वहीं नसबंदी को लेकर पुरुषों में जागरूकता नाममात्र की ही है। केवल 14 नसबंदी हो पाईं हैं। एक सप्ताह पहले भोपाल में हुई मीटिंग के दौरान इस मुद्दे पर लंबी बहस चली थी, अधिकारियों को कम पुरुष नसबंदी होने पर फटकार भी लगाई गई थी, लेकिन इसके बाद भी सुधार नहीं हुआ है।

इस बार महिलाओं की 7 हजार 211 नसबंदी हुईं हैं। जिला अस्पताल में बुधवार और गुरुवार को नसबंदी शिविर लगा। सागर मेडिकल कॉलेज से आए डाक्टर मुकेश जैन ने नसबंदी ऑपरेशन किए। दिन भर चले शिविर में 30 महिलाओं के ऑपरेशन हुए। हालांकि कुछ महिलाओं के ऑपरेशन कैंसिल कर दिए गए, क्योंकि उनकी रिपोर्ट नहीं आई थी। कुछ के सैंपल नहीं लिए गए थे। इस बार महिलाओं को अस्पताल में ऑपरेशन के बाद लिटाने के लिए अलग से इंतजाम किया गया।

एक महिला को एक पलंग पर लिटाया गया। इसके अलावा जमीन पर भी लिटाने के लिए गद्दा बिछाए गए। सीएमएचओ डॉक्टर संगीता त्रिवेदी ने बताया कि महिला नसबंंदी के मामले में दमोह प्रदेश में नंबर वन पर है, सबसे ज्यादा नसबंदी यहां पर हुईं हैं, लेकिन पुरुष नसबंदी में लोग आगे नहीं आ रहे हैं। एक सप्ताह पहले 7 पुरुष नसबंदी हुई थी, लेकिन अभी 7 ऑपरेशन और हो गए हैं।

जबकि महिला नसबंदी की अपेक्षा पुरुष नसबंदी सरल शल्य चिकित्सा के माध्यम से होती है। महिलाओं को नसबंदी के बाद कुछ दिन आराम करना पड़ता है, जबकि पुरुष नसबंदी करवाने के चंद घंटे बाद ही अपने घर जाकर दैनिक कार्य कर सकते हैं, लेकिन भ्रम की स्थिति के चलते पुरुष पीछे हट जाते हैं। उन्होंने बताया कि परिवार नियोजन के लिए अधिक से अधिक पुरुषों को आगे आकर अपना नसबंदी ऑपरेशन करवाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...