कैफेटेरिया में ही डाल दी निर्माण सामग्री:चार साल में ही बंजर हो गया एक्सीलेंस स्कूल का कैफेटेरिया

दमोह22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक्सीलेंस स्कूल में एग्रीकल्चर संकाय के छात्र-छात्राओं के लिए बना कैफेटेरिया बंजर हो गया है। परिसर में पिछले चार साल से हॉस्टल बनाने का काम चल रहा है। एजेंसी ने कैफेटेरिया को निर्माण सामग्री रखने में उपयोग कर लिया है। यहां पर निरंतर वाहनों की आवाजाही और निर्माण सामग्री पड़ी होने की वजह से जमीन बंजर हो गई है।

हालात इतने खराब हैं कि यहां पर प्रेक्टीकल के नाम पर न मॉडल खेती की जा रही है और न ही छात्रों को यहां पर कोई प्रयोग करने का मौका मिल रहा है। कई बार छात्र इस समस्या से प्राचार्य और शिक्षकों को अवगत करा चुके हैं। लेकिन प्रबंधन गंभीरता नहीं दिखा रहा है। भास्कर ने स्कूल परिसर का जायजा लिया तो कैफेटेरिया एक तरह से बंजर नजर आया। जबकि शासन की ओर से स्कूल काे एग्रीकल्चर काे लेकर विशेष पैकेज दिया जाता है, लेकिन पिछले चार साल से पूरी तरह से यहां की गतिविधियां शून्य हो गईं हैं। छात्रों ने बताया कि कोविड के चलते क्लासें नहीं लगीं तो पढ़ाई नहीं हो पाई। इससे पहले कैफेटेरिया में निर्माण सामग्री रखी होने से परेशानी जा रही थी। क्लासें चालू हो गईं हैं, लेकिन यहां पर जगह नहीं बची है। ऐसे में प्रेक्टिकल नहीं हो पा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...