4 घंटे का जाम 15 मिनट में समाप्त:जाम लगाकर बैठे किसानों को विधायक ने लगाया भाईदूज का तिलक, कहा- एक बहन के आश्वासन को मानें भाई

दमोहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जाम लगाकर बैठे किसानों को तिलक लगातीं पथरिया विधायक रामबाई परिहार। - Dainik Bhaskar
जाम लगाकर बैठे किसानों को तिलक लगातीं पथरिया विधायक रामबाई परिहार।

दमोह में खाद के संकट से जूझ रहे किसानों ने शनिवार को एक बार फिर दमोह-सागर स्टेट हाइवे पर जाम लगा दिया और प्रशासन को आमरण अनशन की धमकी भी दे डाली। काफी देर तक पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी किसानों को मनाते नहीं, लेकिन वह माने। आखिरकार प्रशासन ने पथरिया विधायक रामबाई परिहार से मदद मांगी। विधायक ने मौके पर पहुंचकर किसानों को अपना भाई बताते हुए कहा कि आज भाईदूज है, इसलिए उनकी बात मानकर धरना समाप्त कर दें।

विधायक की भावुक अपील सुनकर किसान मान गए और उन्होंने तत्काल ही जाम समाप्त कर दिया। करीब 4 घंटे तक चला जाम विधायक के अनुरोध पर महज 15 मिनट में ही समाप्त हो गया।

बता दें कि शनिवार को किसान खाद लेने के लिए जिला कृषि उपज मंडी पहुंचे थे, लेकिन उन्हें बताया गया कि शनिवार को अवकाश के कारण खाद नहीं बांटा जा रहा है। इसके बाद उन्हें पता चला कि खाद का स्टाक ही उपलब्ध नहीं है, जिससे किसान गुस्से में आ गए और वह दमोह-सागर स्टेट हाइवे पर जाम लगाकर धरने पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि यदि आज खाद नहीं मिलेगी तो वह आमरण अनशन शुरू कर देंगे। इसके बाद पुलिस व प्रशासन के अधिकारी उन्हें मनाने पहुंचे, लेकिन किसान मानने को तैयार नहीं थे।

पथरिया विधायक रामबाई परिहार कृषि उपज मंडी के पास ही रहती हैं, इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों ने विधायक से मदद मांगी। इसके बाद विधायक मौके पर पहुंचीं और उन्होंने किसानों से कहा- 4 दिन के अंदर खाद उपलब्ध हो जाएगी। वह उनकी बात का भरोसा रखें। इसके बाद उन्होंने कहा कि आज भाईदूज है और सभी किसान उनके भाई हैं और एक बहन की अपील और आश्वासन को मानें और धरना समाप्त कर दें।

इसके बाद किसान मान गए और विधायक ने मौके पर मिठाई मंगाकर किसानों का तिलक किया और धरना समाप्त करा दिया।

विधायक ने बताया कि उन्होंने अधिकारियों से बात की है। चार दिन में रैक दमोह आ जाएगी। फिलहाल एक वैकल्पिक खाद मौजूद है, जिसे लेकर किसानों में असमंजस बना हुआ है। उन्होंने उसकी टेस्टिंग कराई है। खाद बेहतर है, लेकिन यहां के किसान सालों से डीएपी खाद ही उपयोग करते आ रहे हैं। इसलिए वह दूसरी खाद लेने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि 4 दिन के अंदर किसानों को पर्याप्त खाद मिल जाएगी। विधायक ने कहा कि उन्होंने किसानों से भाईदूज पर अपील की थी और किसानों ने उनकी बात मान ली है।