खाद का संकट:किसानों ने डीएपी वितरण में गड़बड़ी के विरोध में हटा और दमोह में लगाया जाम

दमोहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दमोह शहर और हटा में खाद को लेकर पिछले 6 दिन में 8 बार लग चुका है जाम

खाद नहीं मिलने से परेशान किसान आक्रोशित हो गए हैं। शनिवार को जिला मुख्यालय पर तीसरी बार किसानों ने दमोह-सागर मार्ग पर खाद विपणन केंद्र के सामने जाम लगा दिया। एसडीएम अविनाश रावत, सीएसपी अभिषेक तिवारी ने किसानों को समझाइश दी, लेकिन किसान नहीं माने। करीब एक घंटे बाद पथरिया विधायक रामबाई सिंह किसानों के बीच पहुंची और भाईदूज के दिन सड़क पर बैठे किसानों के माथे पर तिलक लगाकर मिठाई खिलाई।

उन्होंने किसानों से चर्चा की और उनकी समस्या हल कराने अधिकारियों को निर्देश दिए। तब किसान शांत हुए। इसी तरह हटा ब्लॉक में विपणन केंद्र पर खाद का वितरण नहीं होने और कर्मचारियों के बिना पूर्व सूचना के अवकाश पर जाने के विरोध में किसानों ने हटा-बटियागढ़ रोड पर जाम लगा दिया। यहां प्रदर्शनकारी किसानों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला भी जलाया। प्रदर्शन के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी देखती रही। यहां भी अनुविभागीय अिधकारी राजस्व गगन बिसेन के रविवार से सुचारू खाद वितरण किए जाने और अवकाश पर गए कर्मचारियों पर कार्रवाई करने के आश्वासन के बाद किसान शांत हुए।

गोदाम चैक किया तो नहीं मिला डीएपी, किसान यूरिया लेने सहमत, लाइन लगाकर बांटा
दोपहर करीब दो घंटे तक सैकड़ों किसान सड़क पर बैठे रहे और नारेबाजी करते हुए खाद की मांग को लेकर प्रदर्शन करते रहे। इस बीच पथरिया विधायक मौके पर पहुंची। विधायक को किसानों ने बताया कि सरकारी गोदामों में खाद नहीं है। जबकि दुकानों पर व्यापारी खाद बेच रहे हैं। विधायक ने दुकानदार का नाम बताने कहा तो किसानों ने कहा कि कल दुकान का वीडियो बनाकर दिखाएंगे। विधायक ने अधिकारियों से कहा कि यदि किसानों को खाद नहीं मिलती है तो गोदाम का ताला तुड़वाकर सारी खाद उठवा देंगे और किसानों के साथ धरने पर बैठ जाऊंगी, भले मामला दर्ज हाे जाए।

विधायक की समझाइश के बाद किसान सड़क से उठे और विपणन केंद्र पहुंचे। यहां सभी गोदामों के ताले खुलवाए गए। किसानों ने गोदाम के अंदर पहुंचकर वहां रखी खाद की बोरियां चेक की। जिसमें डीएपी नहीं था। लेकिन यूरिया आदि खाद रखा था। बाद में किसान गाेदाम में रखे खाद को ही लेने तैयार हो गए। काउंटर के बाहर लाइन लगवाई गई और खाद की बोरियां वितरित की गईं। बता दें कि दीपावली के पूर्व भी खाद के लिए भटक रहे किसानों ने दो बार सड़क पर जाम लगाया था। शनिवार को तीसरी बार जाम लगाया गया। जिससे लोग परेशान रहे। जाम के दौरान तीन एंबुलेंस मार्ग से होकर निकलीं जिन्हें रोकना पड़ा। बाद में जाम हटवाकर रवाना किया गया। इधर भाईदूज पर अपने भाईयों के घर जा रही बहनें भी परेशान रहीं। बाइक चालकाें को दूसरे मार्गों से होकर निकलना पड़ा। करीब दो घंटे बाद सड़क से आवागमन सुचारु रूप से चालू हुआ। एसडीएम ने बताया एक रैक आने वाला है। इसके बाद खाद मिलेगी।

खबरें और भी हैं...