पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिले में ओला बारिश:तेज हवा और बारिश के साथ गिरे ओले, जमीन पर बिछ गई गेहूं और चना की फसल, किसान चिंतित

दमाेह/बनवार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में पिछले 24 घंटे के अंदर 14 एमएम बारिश दर्ज, खेतों में फसल जमीन पर बिछी

जिले में बीती रात तेज हवाओं के साथ जाेरदार बारिश हाेने से फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। पथरिया, बटियागढ़, पटेरा, दमोह और केरबना क्षेत्र में गेहूं की फसलें चौपट हो गईं हैं। सुबह-सुबह किसानों ने खेतों में जाकर फसलों का हाल देखा तो बेहाल हो गए। माैसम विभाग के मुताबिक दमोह में पिछले 24 घंटे में 14 एमएम बारिश हुई है।

हालांकि अभी दो दिन और बारिश की संभावना जताई जा रही है। उधर बनवार अंचल में बीती रात 10 बजे के बाद अचानक से मौसम ने करवट बदली। तेज गरज चमक तेज हवाओं के साथ एक घंटे तक तेज बारिश हुई। साथ ही ओले भी गिरे। जिसकी वजह से खेतों में खड़ी गेहूं, चना की फसल जमीन में बिछ गई।

ओले की वजह से चना व धनिया की घेंटी टूटकर खेतों में बिछ गई। जिला से लेकर ग्रामीण अंचलों तक फसलों को ओला वृष्टि से काफी नुकसान पहुंचा है। दमोेह ब्लाक के खजरी, सिंगपुर, मानपुरा में ओलावृष्टि से फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गईं हैं।

पथरिया, बटियागढ़, पटेरा और दमोह में नुकसान

पथरिया तहसील में सतपारा, सूखा एवं आसपास के ग्रामों में ज्यादा ओलावृष्टि होने से किसानों की फसलें पूरी तरह जमीं में बिछ गईं हैं। भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने खेतों में जाकर फसलों का जायजा लिया और प्रशासन से फसलों का जल्द से जल्द सर्वे कराने की मांग उठाई।

बनवार के किसान मलखान सिंह, भानसिंह, उजयार आदिवासी, लटोरी आदिवासी, रूपनारायण ने बताया कि बारिश से दिसंबर माह की गेंहूं की फसलों को फायदा हुआ। जिसमें सर्वाधिक फायदा असिंचित क्षेत्र की फसलों को हुआ, जहां पानी लगाने का साधन नहीं था। लेकिन तेज हवाओं से खेतों पर खड़ी गेंहू की फसल हवा के तेज झोंकों की वजह से गिर जाने से दाना पुष्ट नहीं हो पाता।

जिससे किसानों को नुकसान का सामना करना पड़ता है। अंचल में हुई बारिश ने खेतों में पानी लगाने का खर्चा तो किसानों का बचा दिया, लेकिन चना, धना पहले की बोनी की फसलों के जमीन पर गिरने से नुकसान हो गया है। जिससे बारिश से किसानों में कहीं खुशी तो कहीं गम की स्थिति बनी हुई है।

पटेरा क्षेत्र में बड़े स्तर पर रात में ओले गिरने से फसलों को नुकसान हो गया। हिनौती गांव में चना के आकार के ओले गिरे। सुबह किसानों ने ओले एकत्रित करके फोटो खीचीं और वीडियो वायरल करके अधिकारियों को नुकसान दिखाया। यहां पर चना, मैसूर, मटर और गेहूं को नुकसान पहुंचा है।

इधर जिला मुख्यालय पर गरज-चमक के साथ बारिश होने से सड़कों पर पानी ही पानी नजर आया। कुछ देर के लिए बिजली भी गुल हो गई। करीब आधा घंटा तक बिजली गुल रही। हालांकि तेज हवा न चलने से ज्यादा नुकसान नहीं हो पाया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें