• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Damoh
  • Hindu Organizations Protested, The Administration Said Wherever You Want, You Can Immerse The Idols

दमोह में प्रशासन की गाइड लाइन का विरोध:हिंदू संगठनों ने जताया विरोध, प्रशासन ने कहा- जहां चाहे कर सकते हैं प्रतिमाओं का विसर्जन

दमोह9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासन द्वारा लगाया गया बोर्ड। - Dainik Bhaskar
प्रशासन द्वारा लगाया गया बोर्ड।

दमोह में शनिवार को देवी विसर्जन, दशहरा चल समारोह का आयोजन होने जा रहा है, जिसमें देवी प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर विवाद खड़ा हो गया। प्रशासन ने स्थानीय फुटेरा तालाब के पिछले हिस्से में एक कुंड बनाया है और वहां एक बोर्ड लगाकर यह संदेश दिया है कि तालाब में प्रतिमाओं का विसर्जन प्रतिबंधित है। इसलिए इस स्थान पर प्रतिमाओं का विसर्जन नहीं किया जाएगा।

प्रशासन के आदेश पर हिंदू संगठन से जुड़े लोग नाराज हो गए और उन्होंने सोशल मीडिया पर प्रशासन के इस काम का विरोध जताना शुरू कर दिया। शनिवार सुबह से ही लगातार सोशल मीडिया पर एक के बाद एक पोस्ट सामने आईं, जिसमें जिला प्रशासन को सख्त चेतावनी दी गई और कहा गया कि हिंदू धर्म की भावनाओं से खिलवाड़ करना महंगा पड़ सकता है।

इस बढ़ते विवाद को देख प्रशासन ने अपने हाथ पीछे खींच लिए और उसके बाद यह कह दिया कि वह एक स्थान तय किया गया है, लेकिन यदि कोई तालाब के दूसरे हिस्से में प्रतिमाओं का विसर्जन करना चाहता है तो उसे कोई मनाही नहीं है।

कोई दबाव नहीं, केवल एक व्यवस्था है

सीएमओ निशीकांत शुक्ला ने बताया प्रशासन ने एक व्यवस्था की थी, जिसके तहत कुंड में देवी प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाए। यदि धर्म प्रेमी कुंड में देवी प्रतिमाओं का विसर्जन न कर घाटों से प्रतिमाओं का विसर्जन करना चाहते हैं तो इसमें कोई रोक नहीं हैं। यह केवल एक व्यवस्था है, यदि कोई स्वेच्छा से चाहे तो कुंड में देवी प्रतिमाओं का विसर्जन कर सकता है।