कोर्ट ने आरोपी को घटना का माना दोषी:दलित से मारपीट के आरोपी को कारावास एवं जुर्माना

दमोहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विशेष न्यायाधीश संजय चतुर्वेदी ने दलित के साथ मारपीट करने वाले आरोपी को घटना में दोषी मानते हुए भादवि की धारा 323 एवं एससी एसटी एक्ट में न्यायालय उठने तक के कारावास एवं 3 हजार रुपए के जुर्माना से दंडित किया है। मामले में शासन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक राजीव बद्री सिंह ठाकुर ने की।

अभियोजन अनुसार थाना हटा अंतर्गत आने वाले ग्राम कंजरा निवासी चंदी अहिरवार के बेटे की शादी में 9 मार्च 2016 को विवाद हो गया। चंदी अहिरवार और उसके परिवार के लोगों के विरुद्ध थाना हटा में गांव के बृजलाल अहिरवार ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 14 मार्च 2016 को रात करीब 11 बजे जब बृजलाल अपने घर पर था तो उसी समय चंदी अहिरवार का मित्र फेरन सिंह पिता बहोरी लोधी 41 हाथ में लाठी लेकर आया और बृजलाल को जातिगत अपमानजनक शब्दों सहित गालीगलौज करते हुए बोला कि तुमने हमारे आदमियों की झूठी रिपोर्ट लिखाई है और फिर उसके बाद आरोपी ने बृजलाल को लाठी से कई प्रहार किए जो बृजलाल की पीठ, हाथ और पैर में लगी। बृजलाल के चिल्लाने पर उसका भाई भद्दी, करन और पत्नी दसोदा बचाने आई तो फेरन ने भद्दी के साथ भी लाठी से मारपीट कर दी। आरोपी यह कहते हुए वहां से चला गया कि आज तो बच गए अगली बार मिलोगे तो जान से मार देंगे। बृजलाल ने घटना की रिपोर्ट हटा थाना में लिखाई। प्रकरण न्यायालय के समक्ष आने पर न्यायालय ने अभियोजन द्वारा प्रस्तुत साक्षी एवं तर्कों से सहमत होते हुए आरोपी फेरन लोधी को घटना का दोषी मानते हुए सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...