पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Damoh
  • Now A Tank Of 9 Lakh Liters Capacity Will Be Built To Provide Water To 20 Thousand Population Of Jabalpur Naka.

पानी की टंकी की क्षमता बढ़ी:जबलपुर नाका की 20 हजार आबादी को पानी पिलाने अब 9 लाख लीटर क्षमता की टंकी बनेगी

दमोह14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले 5 लाख लीटर क्षमता की टंकी बनाने का लोगों ने किया था विरोध

शहर के जबलपुर नाका क्षेत्र का जलसंकट मिटाने के लिए जल निगम ने यहां बनने वाली पानी की टंकी की क्षमता बढ़ा दी है। पहले यहां पर 5 लाख लीटर क्षमता की टंकी बनाई जा रही थी। अब इसकी क्षमता 9 लाख लीटर कर दी गई है। शासन से स्वीकृति आने के बाद टंकी बनाने का एक बार फिर से काम चालू होगा। ऐसे में क्षेत्रवासियों को 4 लाख लीटर पानी अतिरिक्त उपलब्ध होगा। आने वाले समय में बढ़ती आबादी को देखते हुए यहां पर पानी की किल्लत नहीं होगी।

शहर में सतधरू मध्यम सिंचाई परियोजना के माध्यम से पानी की सप्लाई जोड़ी जा रही है। जिसमें परसराम टेकरी, आम चौपरा और दयमयंतीपुरम कालोनी को शामिल किया गया है। परसराम टेकरी पर पहले 5 लाख लीटर क्षमता की टंकी बन रही थी। जिसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया था।

जिसके बाद बदलाव करने का प्रस्ताव शासन को बनाकर भेजा गया था। परियोजना में दमोह के अलावा, तेंदूखेड़ा, जबेरा, हटा और पटेरा ब्लाक में पीने और सिंचाई के पानी का इंतजाम किया जा रहा है। सिंग्रामपुर से मानगढ़ तक और हटा के मढियादो क्षेत्र के गैसाबाद तक पानी की सप्लाई करने की योजना है।

अभी 12 महीने जलसंकट से जूझ रहे हैं लोग
शहर की सीमा से सटे जबलपुर नाका क्षेत्र की करीब 20 हजार आबादी के सामने जलसंकट की समस्या है। यहां पर पहले पाइप लाइन बिछी, लेकिन पानी की सप्लाई नहीं की गई। ऐसे में यहां पर नगरपालिका पानी की टंकी से पीने का पानी देती है। रोड पर नल स्टैंड लगाए गए हैं। जिन पर लाेग लाइन लगाकर पानी भरते हैं। सुबह और शाम यहां पर पानी भरने के नंबर को लेकर मारामारी देखने को मिलती है। बताते हैं कि यहां पर परशुराम टेकरी के पास जल निगम की ओर से पानी की टंकी का निर्माण किया जा रहा था।

लेकिन क्षमता कम होने पर स्थानीय लोगों ने विरोध कर दिया। उनका कहना था कि 5 लाख लीटर की टंकी पूरे जबलपुर नाका एवं आमचौपरा क्षेत्र के लिए लिए पर्याप्त नहीं होगी। इसलिए यहां पर 5 की जगह 10 लाख लीटर की पानी की टंकी बनाई जाए। जिस पर काम रोक दिया गया था और टंकी की क्षमता बढ़ाने का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा गया था। जल निगम के एसडीओ डीके जैन का कहना है कि उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों को टंकी की क्षमता बढ़ाने का प्रस्ताव बनाकर भेजा था। जिसकी मंजूरी मिल गई है। परसराम टेकरी पर अब 9 लाख लीटर क्षमता की टंकी बनेगी।

खबरें और भी हैं...