राहत की खबर / अब समिति में नहीं मंडी में बिकेगा तेवड़ा मिक्स चना, 5 सौ रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बोनस भी मिलेगा

Now Tevda Mix Chana will be sold in the market not in the committee, bonus will also be given at the rate of Rs.
X
Now Tevda Mix Chana will be sold in the market not in the committee, bonus will also be given at the rate of Rs.

  • पन्ना, नरसिंहपुर, सागर, दमोह, छतरपुर, रायसेन और विदिशा जिले के किसानों को मिलेगा लाभ

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दमोह. जिले में तेवड़ा मिक्स चना की खरीदी न होने से परेशान किसानों के लिए यह अच्छी खबर है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की ओर से जारी किए गए आदेश में अब ऐसे किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए 5 सौ रुपए का बोनस देने का प्रावधान रखा गया है। किसानों को भावांतर योजना के तहत मंडी में चना बेचने का मौका दिया गया है। मगर इसके लिए किसानों को समिति के पास जाकर सूचना देनी होगी और रिकार्ड में स्पष्ट उल्लेख कराना होगा। 
दरअसल 20 मई को जारी किए गए आदेश में बताया गया है कि जिन किसानों का तेवड़ा मिक्स चना उपार्जन केंद्रों पर नहीं बिक रहा है, ऐसे किसान अब उस चने को मंडी में बेच सकते हैं और उसके एवज में 500 रुपए बोनस प्रति क्विंटल के हिसाब से देय होगा। शासन ने इसकी अनुमति केवल प्रदेश के सात जिलों में दी है। जिसमें पन्ना, नरसिंहपुर, सागर, दमोह, छतरपुर, रायसेन और विदिशा जिला शामिल है। 
रिकार्ड में यह कराना होगा दर्ज 
संचालक ने आदेश में बताया कि मंडी में खरीदी केंद्र पर किसान अपना चना बेच सकते हैं। इसका रिकार्ड भी किसान एप और एमपी ऑनलाइन  और ई-ऊपार्जन केंद्रों पर जाकर दर्ज करा सकते हैं और बता सकता है कि उसके चना में तेवड़ा मिक्स है और वह उपार्जन केंद्र में नहीं दे सकते हैं, विकल्प के रूप में ई-उपार्जन सॉफ्टवेयर के नाम खरीदी से पृथक कर उसे मंडी के लॉगिंग में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। ऐसे सभी किसानों को 5 सौ रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाएगा। 
यहां पर बता दें कि तेवड़ा मिक्स चना की खरीदी न होने पर कृषि उपार्जन केंद्रों पर किसान कम संख्या में आ रहे थे। शासन के इस नए नियमों ने किसानों की समस्या को और बढ़ा दिया। जिले में 37 से ज्यादा केंद्रों पर बमुश्किल 20 से 25 किसानों ने ही चना बेचा था। जबकि अंचल में सबसे ज्यादा उपज चना की बताई जा रही थी। भारतीय किसान संघ से लेकर कई संगठनों ने अपनी अपत्ति दर्ज कराई थी। जिसके बाद शासन ने 20 मई को नया आदेश जारी करके किसानों को राहत दी है। इस संबंध में जिला विपणन अधिकारी बृजेंद्र शर्मा ने बताया कि कृषि मंत्रालय से एक आदेश जारी हुआ है। जिन किसानों का चना समिति में नहीं बिका है, अब वे मंडी में भावांतर योजना के तहत बेच सकते हैं, उन्हें प्रति क्विंटल के हिसाब से 5 सौ रुपए की राशि शासन से जारी होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना