पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

होली के रंगों की तरह रंगी हैं गांव की दीवारें:पड़रिया थोबन गांव के घर की दीवारों पर सकारात्मक संदेशों के रंग

दमोहएक महीने पहलेलेखक: संजय मौर्य
  • कॉपी लिंक
  • गांव की हर दीवार पर अलग तरह का रंग है और उस रंग के साथ ही सामाजिक बुराई को मिटाने का संदेश भी

होली की मस्ती में जहां लोग रंग और गुलाल में रंगे नजर आते हैं, लेकिन जिले के जबेरा ब्लाॅक का पड़रिया थोबन एक ऐसा गांव है, जिसके 50 घरों की दीवारें हर समय होली के रंग की तरह रंगी हुईं नजर आती हैं। इतना ही नहीं, इस गांव की हर दीवार पर अलग तरह का रंग है और उस रंग के साथ ही सामाजिक बुराई को मिटाने का संदेश भी।

इस गांव की सूरत बदलने वालों का जिक्र भी प्रधानमंत्री मन की बात में कर चुके हैं।दरअसल यह सब सरकार की किसी योजना के तहत नहीं बल्कि गांव को स्मार्ट, स्वच्छ और मॉडल बनाने के लिए मुंबई के स्मार्ट गांव फाउंडेशन की पहल पर हुआ है और मध्यप्रदेश का यह पहला गांव है, जिसे इस तरह वाॅल पेटिंग के माध्यम से सजाया गया है।

फाउंडेशन ने सबसे पहले जिला मुख्यालय से जबलपुर-दमोह मार्ग पर 50 किमी दूरी पर स्थित जबेरा ब्लाॅक के खैरी सिंगौरगढ़ का पड़रिया थोबन गांव को दो साल पहले चुना था और दो साल से निरंतर इस गांव को स्मार्ट बनाने के लिए दीवार पेटिंग, वॉल पेटिंग, स्ट्रीट लाइट, डस्टबिन युक्त, स्कूल में स्मार्ट क्लास और अच्छी सड़क बनाने का काम चला।

गांव में बकायदा सेल्फी प्वाइंट बनाया गया है, जो भी बाहर का व्यक्ति इस गांव में आता है, सेल्फी प्वाइंट पर फोटो लेता है और गांव की सुंदरता को निहारता है। इस तरह इस गांव की की पहचान पूरे मध्यप्रदेश में अनोखी है। इस फाउंडेशन का जिक्र मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक कर चुके हैं और उन्होंने युवाओं की इस पहल की सराहना की है।

जो भी आता है, सेल्फी लेकर जाता है
यहां पर दीवार लेखन और पेटिंग भी वॉल पेंट से कराई गई है। जो भी पहली बार इस गांव में आता है, पेटिंग और दीवाराें पर लिखे संदेश देखते ही रह जाता है। बताते हैं कि यह फाउंडेशन गांव चयनित करके उसकी पुताई कराते हैं और वॉल पेटिंग से सामाजिक बुराइयों को दूर करने से संदेश लिखवाते हैं। फाउंडेशन ने मध्यप्रदेश में जबेरा के पड़रिया थोबन गांव को स्मार्ट गांव बनाने का सबसे पहले निर्णय लिया था। जिसके बाद से गांव में पुताई कराई गई और वॉल पेटिंग हुई।

जहां गंदगी थी वहां की पेंटिंग
फांडेशन के सदस्य ने बताया कि कल तक यहां जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हुए थे, लेकिन अब गांव की आबोहवा बदली हुई है। पहले इस गांव के लोग न तो साफ-सफाई के प्रति जागरूक थे और न ही अपने स्वास्थ्य के प्रति, मगर जब से स्मार्ट संस्था ने गांव को गोद लिया और सूरत बदल गई है। संस्था दो साल से गांव के प्रत्येक मकान को अलग-अलग वॉल पेटिंग से पुतवाती है। गांव की दीवारों पर सामाजिक बुराई मिटाने और प्रेरित करने संदेश लिख हैं। जिससे यहां पर आने वाले लोगों को सकारात्मक ऊर्जा मिलती है।

बताते हैं कि फाउंडेशन में मुंबई निवासी रजनीश वाजपेयी और योगेश साहू और भारतीय अमेरिका निवासी सत्येंद्र सिंह लोधी आईटी एक्सपर्ट हैं। सत्येंद्र सिंह जबेरा के विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी के भाई हैं। उन्होंने इस गांव को चयन सदस्यों के साथ मिलकर किया था। गोद लेने के बाद गांव अब अलग दिखने लगता है। यहां की दीवारों पर स्वच्छता, शिक्षा, नशा के दुष्परिणाम और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे स्लोगन दीवारों पर लिखे हैं। फाउंडेशन ही गांव की सड़क बना रहा है, ताकि यहां आने वाले लोग इस गांव की सुंदरता को देख सकें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें