पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीनेशन अभियान:जिले में 9.39 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य

दमोहएक महीने पहलेलेखक: नरेश ठाकुर
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 1.89 लाख लोगों को लगा टीका, प्रदेश के औसत 25% से यह 5% कम

जिले में आबादी के हिसाब से कोरोना टीकाकरण का अभियान काफी धीमी गति से चल रहा है। 16 जून को जिले में टीकाकरण अभियान के पांच माह पूरे हो गए हैं। 9 लाख 39 हजार 165 लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट है। लेकिन अब तक 1 लाख 67 हजार 224 को वैक्सीन का फर्स्ट डोज लगा है। 22 हजार 547 को सेकंड डोज लगा है।

21 जून से वैक्सीनेशन बढ़ाने के लिए जिले में महाअभियान शुरू हाेना है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक जिले को करीब 9 हजार डोज रोज मिलेगें। जिससे वैक्सीनेशन भी बढे़गा। लेकिन फिलहाल की स्थिति में दमोह का वैक्सीनेशन अभियान धीमा है।
इस तरह हो रहा वैक्सीनेशन
जिले में लक्ष्य पूरा करने के लिए कॉलेजों, ग्राम पंचायतों सहित सार्वजनिक स्थानों पर कैंप लगाकर वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। शहर में शासकीय पीजी कॉलेज, कमला नेहरू गर्ल्स कॉलेज में कैंप लगाया गया। पिछले 18 दिन से शासकीय एमएलबी कन्या शाला में कैंप लगाकर वैक्सीन लगाई जा रही है। यहां वैक्सीन लगवाने पहुंचने वाले लोगों के पहले सेंपल लिए जा रहे हैं फिर वैक्सीन लगाई जा रही है।
प्लानिंग के साथ लक्ष्य पूरा करने के प्रयास किए जा रहे हैं
शासन के निर्देशानुसार वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा करने प्रयास किए जा रहे हैं, वैक्सीनेशन भी अब ज्यादा मात्रा में उपलब्ध होगी इसके लिए प्लानिंग कर रहे हैं कि किस तरह से कहां ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन हो सके। इसमें लोगों के सहयोग की जरूरत है, लोगाें को जागरूक किया जा रहा है। - डॉ. रेक्सन, जिला टीकाकरण अधिकारी, दमोह

शासकीय प्राथमिक शाला एरोरा में पदस्थ शिक्षक ने कोरोना से बचाव की वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाकर ग्रामीणों जागरूक किया। शिक्षक संतोष अठया वैक्सीनेशन लगवाने गले में संदेश लिखी तख्ती लटकाकर केंद्र पर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने वैक्सीन लगवाने के लिए ग्रामीणों को सकारात्मक संदेश दिया।

शिक्षक को विद्यालय के अंदर और खुले वातावरण में गतिविधि द्वारा अपने द्वारा किए जाने वाले नवाचारों के लिए जाने जाते हैं। इनका यह संदेश जहां एक और ग्रामीण जनों में वैक्सीन लगवाने के प्रति सकारात्मक संदेश का कार्य करेगा। वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों में कोविड-19 की वैक्सीनेशन के प्रति उदासीनता को दूर करने में मददगार साबित होगा।

प्राथमिक शिक्षक संतोष कुमार अठ्या की सोच है कि यदि प्रत्येक शिक्षक अपने अपने क्षेत्र के लोगों को यदि कोविड-19 की वैक्सीन के प्रति जागरूक करें तो प्रदेश में ही नहीं अपितु पूरे देश में वैक्सीनेशन का प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है।

टीके का गणित

7 दिन में 50 हजार लोगों के वैक्सीनेशन का मिला लक्ष्य

जिले में 7 दिन में 50 हजार वैक्सीनेशन का लक्ष्य शासन से मिला है। लक्ष्य मुताबिक वैक्सीन भी जिले के उपलब्ध कराई जाएगीं। इस तरह रोज 7 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगानी होगी। तब कहीं सात में लक्ष्य पूरा हो सकेगा। 21 से 30 जून तक वैक्सीनेशन महाअभियान चलेगा।

टीके के डोज

टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने 126 केंद्रों पर लगेगा टीका

वैक्सीनेशन की शुरूआत जिला अस्पताल से हुई थी। इसके बाद विवेकानंद नगर, आयुष अस्पताल के अलावा स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीनेशन हुआ। बीच में स्कूलों, धर्मशालाओं, मंदिरों में कैंप लगाए गए। इस तरह 110 केंद्रों पर वैक्सीनेशन हुआ। अब लक्ष्य पूरा करने जिले में 126 केंद्राें पर वैक्सीन लगाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...