पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सड़क हादसा:मजदूरों को पाटन क्षेत्र ले जा रहा मालवाहक पलटा, 31 घायल, एक का हाथ कटा

तेंदूखेड़ा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तेंदूखेड़ा| कोपादेवरी तिराहा पुलिया के पास पलटा पड़ा मालवाहक। - Dainik Bhaskar
तेंदूखेड़ा| कोपादेवरी तिराहा पुलिया के पास पलटा पड़ा मालवाहक।
  • 2 लोगों को गंभीर हालत में जबलपुर मेडिकल कॉलेज रैफर किया, मजदूरों के साथ 23 नाबालिग भी थे सवार, सभी घायल

ग्राम तारादेही झमरा से 40 मजदूरों को लेकर जा रहा मालवाहक एमपी 20 जीए 8137 सुबह करीब 9 बजे कोपादेवरी तिराहा पुलिया के पास अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गया। जिससे लगभग 31 लोग घायल हो गए। जिनमें से 2 लोगों की हालत गंभीर होने के कारण जबलपुर रैफर कर दिया है। आश्चर्य है कि वाहन में 23 नाबालिग भी मजदूरी के लिए ले जाए जा रहे थे। हादसे में सभी को चोटें आई हैं। 108 एंबुलेंस, जननी एक्सप्रेस एवं अन्य वाहनों से घायलों को तेंदूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र लाया गया।

इनमें अनिल पिता भागचंद्र 12 का दाहिना हाथ कोहनी से कटकर अलग हो गया एवं जितेंद्र पिता भारत 11 को सिर एवं हाथ पैर में चोट होने पर गंभीर हालत में जबलपुर मेडिकल कालेज रेफर किया गया है। इसके अलावा 29 घायल सभी झमरा निवासी का इलाज नगर की अस्पताल में किया जा रहा है। जिनमें से कुछ लोग घर भी चले गए हैं। तारादेही थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।

ज्ञात हो कि कई सालों से तेंदूखेड़ा के ग्रामों से प्रतिदिन सैकड़ों मालवाहक चालक मजदूरों को भरकर पाटन क्षेत्र ले जाते हैं। छोटे मालवाहक में 50 से 80 मजदूरों को भरा जाता है। तारादेही, तेंदूखेडा या पाटन पुलिस कभी भी कोई कार्रवाई नहीं करती। पिछले साल 24 नवंबर को मजदूरों को भरकर पाटन से वापस झलोन लेकर जा रहे माल वाहक में बैठी सावित्री बाई का 27 मील पंडा बाबा के पास क्रासिंग में हाथ कटकर दूसरे वाहन में गिर गया था।

माल वाहक में 23 बच्चे सवार थे जो धान का रोपा लगाने पाटन जा रहे थे। घायलों में दीपक पिता भगवानदास, चंद्रशेखर आदि ने बताया कि मालवाहक को 20 वर्षीय अजय उर्फ राहुल पिता हेमराज तेज गति से लहराकर चला रहा था तारादेही के पास कोपादेवरी तिराहा पर लहराने के कारण सड़क पर ही मालवाहक पलट गया। हादसा होते ही चालक तुरंत भाग गया।

बताया गया है कि अजय आज पहली बार गाडी़ चला रहा था इसके पूर्व में तारादेही का ड्राइवर गाडी़ चलाता था जो अच्छे से चलाता था। मजदूरों ने बताया कि रोपा लगाने पर हम लोगों को सिर्फ 150 रुपए ही मिलते हैं। एसडीओपी अशोक चौरसिया का कहना है कि मैं सभी थानों के थानेदारों से बोलता हूूं कि जो मालवाहक सवारियां लेकर जाते हैं उन सभी वाहन चालकों पर कार्रवाई करें।

घायलों में 12 साल का बालक भी
हादसे में मोहनी पिता रामदीन 12, हाकम पिता खलकसिंह 24, आशीष पिता जगदीश 17, महरानी पति प्रताप 55, दीपक पिता भगवानदास 18, पार्वती पिता हेमराज 17, नीतिशा पिता जगदीश 16, गुड्डू पिता रघुवीर 32, चंद्रशेखर पिता हेमराज 14, रज्जो पिता खलकसिंह 15, रविंद्र पिता जाहर 17, सीतारानी पति राजाराम 45, सुशीला पिता नत्थू 16, धीरेंद्र पिता देवेंद्र 15, चरनजीत पिता भगवानदास 14, रामकृपाल पिता हेमराज 14, रश्मि पिता रामजी 18, शिवानी पिता नन्हेंसिंह 12, बबली पिता मूरत 18, सुलेखा पिता झामसिंह 17, शिवानी पिता सुरेश 15, दीपक पिता ब्रजेश 16, रश्मि पिता कल्याण 11, संजय पिता ब्रजेश 12, सोनेसिंह पिता बिहारी 17, अमर पिता जगदीश 11, अंगूरी पिता बिहारी 15, सोनम पिता डालसिंह 15, नीलू पिता कोशल 14 शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...