पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला 7 जून तक अनलॉक नहीं:जिले की संक्रमण दर 2.5 फीसदी, अभी 739 एक्टिव केस में से 723 मरीज होम आइसोलेट

दमोह25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला व्यापारी महासंघ के सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक मार्केट खोलने के प्रस्ताव को सहमति नहीं

जिले में अब 1 जून को अनलाॅक नहीं किया जाएगा। भले ही जिले की पॉजिटिविटी दर कम हो गई है लेकिन दूसरे जिलों से पॉजिटिव मरीजों की संख्या ज्यादा है। 90 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेट हैं जिनसे संक्रमण फैलने का खतरा है इन मरीजों को पहले अस्पतालों कोविड सेंटरों में भर्ती कराया जाएगा ताकि जिला कोरोना मुक्त हो सके।

इसी के चलते जिले में एक सप्ताह तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है। लेकिन 45 दिनाें से बाजार बंद होने से व्यापारी वर्ग इसका विरोध कर रहा है जिला व्यापारी महासंघ के अध्यक्ष संजय यादव ने व्यापारियाें की ओर से सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक मार्केट खोले जाने की बात रखी। लेकिन इस पर सहमति नहीं दी गई हैं। रविवार को हुई जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में एक सप्ताह और लॉक डाउन रखने का निर्णय लिया गया है। बैठक नगरीय विकास और आवास तथा कोविड-19 जिला प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह की वर्चुअल मौजूदगी में हुई। मंत्री ने कहा बैठक में पारित प्रस्ताव राज्य शासन को भेजा जाएगा। कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने जिले में कोविड-19 की ताजा स्थिति पर रिपोर्ट रखी। उन्होंने कहा पॉजिटिविटी रेट 2.5 है। अभी एक्टिव केस 739 हैं। 723 मरीज होम आइसोलेट हैं। 70 मरीज अस्पताल और कोविड केयर सेंटर में हैं। सरकारी अस्पतालों और निजी अस्पतालों में बेड खाली हैं। अभी ए-सिमटोमेटिक केस आ रहे हैं।

अब पॉजीटिव केस ट्रिपल-सी या अस्पताल में रखे जाएंगे

बैठक में निर्णय लिया गया पॉजिटिव केस को कोविड केयर सेंटर या अस्पताल में रखा जाए। एसपी डीआर तेनीवार ने भी कहा सभी पॉजिटिव केसों को कोविड केयर सेंटर या जिला अस्पताल में ही रखा जाए। वेयरहाउसिंग कार्पोरेशन एवं लॉजिस्टिक अध्यक्ष केबिनेट मंत्री दर्जा राहुल सिंह ने कहा सभी व्यापारियों और उनके कर्मचारियों का टीकाकरण कैंप कर करा लिया जाएं।

कलेक्टर ने बताया कि जिले में पॉजिटिव केस या एक्टिव केस बाकी जिलों की तुलना में ज्यादा हैं, जिला आपदा प्रबंधन समिति ने निर्णय लिया है कि अभी 7 दिन लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा जिसमें राज्य शासन द्वारा शनिवार और रविवार लॉकडाउन रहता ही है तो अभी जिले में 7 दिन और लॉकडाउन रहेगा। शासन के निर्णय के अनुरूप आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर ने बताया जिले में लगभग 90 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन वाले हैं। यह बाकी जिलों की तुलना में ज्यादा हैं। बैठक में निर्णय हुआ है कि सभी होम आइसोलेट मरीजों को कोविड केयर सेंटर या जिला अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कहा कोविड केयर सेंटर या जिला अस्पताल में बेड बहुत मात्रा में खाली हैं। जिनका उपयोग भी नहीं हो रहा है।

खबरें और भी हैं...