पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Damoh
  • The Promise Of Employment To 3000 From The New Cement Plant, The Work Did Not Progress For One And A Half Year, The Company Officers Also Returned

गैसाबाद में लगना है 14 करोड़ का प्लांट:नए सीमेंट प्लांट से 3000 को रोजगार का वादा, डेढ़ साल से काम आगे नहीं बढ़ा, कंपनी अफसर भी लौटे

दमोह7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दमोह| गैसाबाद में जिस जगह पर सीमेंट प्लांट लगना है वहां पर इन दिनों किसानों द्वारा खेती की जा रही है। - Dainik Bhaskar
दमोह| गैसाबाद में जिस जगह पर सीमेंट प्लांट लगना है वहां पर इन दिनों किसानों द्वारा खेती की जा रही है।
  • अब कलेक्टर-एसडीएम के संपर्क में नहीं है कंपनी
  • कंपनी द्वारा जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया भी नहीं की गई पूरी

हटा ब्लाक के गैसाबाद में 3 हजार बेरोजगार को रोजगार देने का दावा करने वाली सीमेंट फैक्ट्री का प्लांट स्थापित करने की गतिविधियां शून्य हो गईं हैं। मौके पर न तो कोई निर्माण कार्य हुआ है और न ही जिला प्रशासन के अधिकारियों से किसी भी तरह की एनओसी के लिए आवेदन किया गया है। जाे अधिकारी जानकारियां जुटाने के लिए आए थे, वे भी बहुत पहले लौट चुके हैं। डेढ़ साल से कलेक्टर-एसडीएम के संपर्क में भी कंपनी के अधिकारी नहीं आए हैं। ऐसे में सीमेंट प्लांट के खुलने को लेकर असमंजस खड़ा हो गया है।

गैसाबाद में सीमेंट प्लांट स्थापित करने की वर्ष 2019 में कांग्रेस की सरकार ने घोषणा की थी। एक फर्म ने मौके पर मुआयना किया और तीन से चार माह तक यहां पर कुछ प्रक्रिया चलती रही, पर बाद में कंपनी के अधिकारी लौट गए। प्लांट को लेकर न तो कलेक्टर के पास कोई जानकारी है और न ही हटा एसडीएम के पास।

दाे हिस्साें में तैयार किया था प्राेजेक्ट

हटा के गैसाबाद में निजी फर्म ने फैक्ट्री का संचालन करने के लिए दो हिस्सों में प्रोजेक्ट तैयार किया था। पहले दमोह के गैसाबाद में प्लांट लगाना था और इसके लिए पन्ना से पत्थर लीज लाया जाना था। क्योंकि पन्ना में लाइमस्टोन पर्याप्त मात्रा में मिलना बताया गया था। कंपनी के अधिकारियों के आने के बाद फैक्ट्री चालू करने के लिए ज्यादातर एनओसी दे दी गई थीं।

इसके लिए 393 हेक्टेयर जमीन की जरूरत थी। इसमें से कुछ जमीन शासन से उपलब्ध कराई गई है। कुछ जमीनों की रजिस्ट्रियां भी हुईं, लेकिन अब पिछले डेढ़ साल से कंपनी के अधिकारियों का जिला प्रशासन के अधिकारियों से कोई संपर्क नहीं हो रहा है। फैक्ट्री के अधिकारी और कर्मचारी सब लौट चुके हैं।

दमोह-पन्ना रेल मार्ग भी प्रस्तावित था

दो साल पहले इंडिया सीमेंट कंपनी के प्रेसिडेंट यतींद्र शाह दमोह पहुंचे थे। उन्होंने पन्ना के कोलखरिया गांव में 499 हेक्टेयर क्षेत्रफल में पत्थर लीज पर लेने और हटा के गैसाबाद में 2.20 मिलियन टन प्रतिवर्ष क्षमता के साथ सीमेंट उत्पादन प्लांट स्थापित कराने को लेकर जानकारी दी थी।

पत्थर की लीज भी प्राप्त हो गई थी। जमीन का अधिग्रहण कराने में तत्कालीन एसडीएम राकेश मरकाम को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। काफी हद तक काम भी हो गया था लेकिन 172 एकड़ जमीन का अधिग्रहण हो गया था। जबकि 128 एकड़ जमीन का और अधिग्रहण होना था। मगर बीच में ही कंपनी के अधिकारी लौट गए।

मुझे कोई पत्र नहीं मिला

सीमेंट प्लांट के अधिकारियों ने मुझसे कोई संपर्क नहीं किया है। न ही किसी तरह का पत्र व्यवहार मेरे से हुआ है। जब तक मुझे कोई प्रस्ताव नहीं मिलता है। इस संबंध में कुछ नहीं बोल सकता हूं।
- एस कृष्ण चैतन्य, कलेक्टर, दमोह

मेरे आने से पहले जमीन के आवंटन को लेकर प्रक्रिया चल रही थी। फिलहाल की स्थिति में उनसे किसी तरह का कोई संपर्क नहीं किया गया है। न ही कंपनी के अधिकारियों ने यहां आकर कोई आवेदन दिया है।
गगन बिसेन,एसडीएम, हटा

सीमेंट प्लांट का प्रोजेक्ट 10 करोड़ रुपए से ऊपर का होता है। इसमें जिला उद्योग विभाग को किसी तरह की कोई जानकारी नहीं मिलती है। तीन माह पहले ही मैं आया हूं, फिलहाल मेरे पास कोई जानकारी नहीं है।
- उल्लास पाटनकर, महाप्रबंधक जिला उद्योग व्यापार केंद्र, दमोह

खबरें और भी हैं...