शराब के नशे ने ले ली जान:युवक ने वन विभाग के बंद क्वार्टर में लगा ली फांसी

दमोह17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के जबलपुर नाका वन विभाग के खाली पड़े क्वार्टर में गुरुवार की सुबह एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक को पिछले एक माह से शराब पीने की लत लग गई थी। परिवार के लोग भी परेशान हो गए थे। बार-बार मना करने पर घर में विवाद की स्थिति बन रही थी। पुलिस ने पीएम कराकर शव परिजन के सुपुर्द कर दिया।

जानकारी के अनुसार ग्राम चौपराखुर्द निवासी विशाल पिता चंदू यादव 22 मजदूरी एवं ट्रैक्टर ड्राइविंग करता था। गुरुवार की सुबह 9 बजे अपने घर से रोज की तरह निकला और वन विभाग के रेस्ट हाऊस के बाजू से खाली पड़े क्वार्टर पहुंचा। यहां उसने तौलिया से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वहां से निकल रहे लोगों की नजर खिड़की पर पड़ी। जिसके बाद पास जाकर देखा तो आसपास के लोगों ने इसकी सूचना उसके परिजन को दी।

कुछ देर बाद परिजन मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। लेकिन घटना स्थल से आधा किमी दूर होने के बाद भी पुलिस काफी देर तक मौके पर नहीं पहुंची। काफी देर बाद पुलिस ने शव को फांसी से उतारा और पीएम के लिए भिजवाया। देर शाम युवक का अंतिम संस्कार किया गया। युवक के चाचा कमलेश यादव ने बताया कि विशाल पिछले कुछ साल से शराब का नशा करता था। लेकिन एक माह से उसे शराब की काफी लत लग गई थी। बार-बार मना करने के बाद भी उसने शराब नहीं छोड़ी। गुरुवार की सुबह करीब 9 बजे राेज की तरह घर से नाश्ता करके निकला था। करीब एक घंटे बाद पता चला कि उसने फांसी लगा ली। परिजनों के अनुसार पाॅलीटेक्निक कॉलेज के पीछे अवैध कच्ची शराब का कारोबार चल रहा है। जहां पर हर समय शराब की बिक्री होती है। विशाल भी रोज वहीं पर शराब पीने जाता था।

खबरें और भी हैं...