सड़क निर्माण-मेंटेनेंस में भेदभाव:चार किमी लंबी शहर की तीन व्यस्त सड़कें जर्जर, एजेंसी तय, राशि भी जारी हो गई, लेकिन बनाई नहीं

दमोह2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर की करीब 4 किमी की 3 प्रमुख सड़कें राशि जारी होने के बाद भी अधूरी पड़ी हैं। इन सड़कों से प्रतिदिन हजारों लोगों का आवागमन होता है, लेकिन नगर पालिका इन सड़कों की सुध नहीं ली रही है। कुछ समय पहले जर्जर सड़कों का करीब 20 लाख रुपए की लागत से पेंचवर्क कराया गया, लेकिन पहले से स्वीकृत इन सड़कों की हालात जस की तस है। न अधिकारी एजेंसी निरस्त कर रहे हैं और न ही सड़कों का काम पूरा करा रहे हैं।

ऐसे में इन सड़कों के गड्‌ढे, उड़ती धूल और कीचड़ लोगों के लिए मुसीबत बन गए हैं। सीताबावली चौराहा से पीएम आवास कॉलोनी की सड़क आधा किमी बनाने के बाद अधूरी छोड़ दी गई। जबकि यह सड़क डेढ़ किमी ही बनाई जानी थी। 25 फीट चौड़ी इस सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण भी हटाए जाने थे, लेकिन स्थिति जस की तस है। नूरी नगर व गढ़ी मोहल्ला जाने वाली प्रमुख सीसी सड़कें भी खस्ताहाल है। इधर रेस्ट हाऊस से एमपीईबी ऑफिस जाने वाली सड़क गड्‌ढे व कीचड़ में तब्दील है। जबकि इस मार्ग से चौबीस घंटे लोगों की आवाजाही बनी रहती है।

डेढ़ किमी की सड़क, एक साल पहले आधा किमी बनाकर अधूरी छोड़ दी
वर्ष 2017 में मुख्यमंत्री शहरी विकास अधोसंरचना के तहत शहर के बड़ापुरा चौराहा से सीताबावली मुक्तिधाम से होकर पीएम आवास कॉलोनी तक सड़क निर्माण के लिए 1 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत हुई थी। तीन साल तक इस सड़क की ओर कोई ध्यान नहीं दिया, लेकिन बीते विधानसभा चुनाव के दौरान अचानक इस सड़क का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया। जिसे पीएम आवास कॉलोनी के रिंग रोड से सीताबावली मुक्तिधाम तक आधा किमी तक बनाकर छोड़ दिया गया। जबकि एक करोड़ की राशि से डेढ़ किमी की सड़क स्वीकृत हुई थी। डेढ़ किमी की सड़क के लिए एक करोड़ स्वीकृत हुए थे। खास बात यह है कि इस सड़क को 25 फीट चौड़ा बनाया जाना था। जिसमें कई अतिक्रमण भी सामने आ रहे थे। तत्कालीन सीएमओ निशिकांत शुक्ला ने कहा था कि कुछ माह बाद पूरी सड़क बनाई जाएगी, लेकिन इसके आगे की सड़क आज तक नहीं बनी।

अतिक्रमण बाधक इसलिए नहीं बनाई : 25 फीट चौड़ी इस सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण बाधक बन रहे हैं, जिससे सड़क का काम पूरा नहीं हो रहा।

आधा किमी की सड़क 10 साल से जर्जर, लेकिन न बनवाई और न मेंटेनेंस कराया
शहर के रेस्ट हाउस से बिजली आफिस जाने वाले आधा किमी की सड़क भी लोगों के लिए मुसीबत बनी हुई है। सड़क पर गहरे गड्‌ढे एवं कीचड़ होने की वजह से आए दिन वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। इस मार्ग से जनपद पंचायत, सरस्वती स्कूल, पुरानी कलेक्टोरेट, जिला न्यायालय, एक्सीलेंस स्कूल, बिजली ऑफिस होने की वजह से बाइक सवार एवं पैदल चलने वाले लोग इसी मार्ग से आवाजाही करते हैं। शार्ट कट होने की वजह से लोग इस मार्ग का ज्यादातर इस्तेमाल करते हैं, इसलिए यह मार्ग आमजन के लिए काफी महत्वपूर्ण है। हैरानी की बात तो यह है कि इस मार्ग के दोनों ओर मजिस्ट्रेट और कई विभागों के क्लास वन अधिकारियों के बंगले हैं। स्थानीय निवासी ज्ञानेश्वर मरावी, तखत सिंह, मनोज रैकवार ने बताया कि सड़क पर मिट्‌टी की वजह से दिन भर धूल के गुबार उड़ते रहते हैं। करीब दस साल से सड़क जर्जर है। शिकायत भी कर चुके हैं, लेकिन अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे।
निर्माण एजेंसी दूसरे काम में लग गई : सड़क का टेंडर बीते माह हो चुका है। निर्माण एजेंसी दूसरे काम में व्यस्त है, जिससे अभी तक इस सड़क का काम शुरू नहीं हुआ।

अधिकांश सड़कों की मरम्मत कराई, धरमपुरा मुख्य मार्ग को छोड़ दिया
शहर के धरमपुरा मुख्य मार्ग से नूरीनगर एवं गढ़ी मोहल्ला क्षेत्र में जाने वाली सीसी सड़कें भी जर्जर हालत में पहुंच गई हैं। वाहनों की आवाजाही की वजह से कई जगह से सड़ उखड़ गई है और नुकीली गिट्‌टी निकल आई है। जिससे लोगों को पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है। साथ ही आए दिन वाहन पंक्चर हो जाते हैं। एक साल पहले नई पाइप लाइन बिछाने के दौरान सड़क के दोनों ओर खुदाई होने की वजह से भी सड़क की हालत खस्ताहाल हो गई है। स्थानीय निवासी रासिद खान, नाजिर खान ने बताया कि करीब एक साल से सड़क की हालत खराब है। हम लोग कई बार नगर पालिका में शिकायत भी कर चुके हैं। वर्तमान में पूरे शहर की सड़कों की मरम्मत कराई जा चुकी है, लेकिन हमारे क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत कराने जिम्मेदारों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि इन दोनों मार्गों से चौबीसों घंटे लोगों की आवाजाही बनी रहती है।

दूसरे चरण के कारण छोड़ा: पहले चरण में मुख्य सड़कों का पेंचवर्क हुआ है। दूसरे चरण में इन सड़कों को भी जोड़ा जाना है। इसलिए अभी तक यह सड़क अधूरी पड़ी है।

मैं पता करता हूं
मुझे इसकी जानकारी नहीं है। कल ही लोक निर्माण शाखा से पता करवाता हूं कि यह सड़कें क्यों नहीं बनीं। जहां जरूरी होगा सड़कों का निर्माण कराया जाएगा।
- भैयालाल सिंह, सीएमओ नपा दमोह

खबरें और भी हैं...