पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस:मार्शल आर्ट में एक दूसरे को टक्कर देती हैं जुड़वा बहनें, कॉमनवेल्थ गेम्स में जाने का लक्ष्य

दमोह2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर ऐसी बेटियों को सलाम, जो हर परिस्थिति में हर किसी से सामना करने के लिए रहती हैं तैयार, ये जुड़वा बहनें चहती हैं कॉमनवेल्थ में भारत का नाम रोशन करना

(संजय मौर्य)
शहर के वैशाली नगर निवासी जुड़वा बहनें निष्ठा और नित्या मार्शल आर्ट में ब्लैक बेल्ट हैं। दोनों अभी 14-14 साल की हैं, मगर दोनों काॅमन वेल्थ गेम में जगह बनाने के लिए एक दूसरे को टक्कर दे रही हैं। दोनों का लक्ष्य एक ही है। मगर आगे निकलने की होड़ में एक दूसरे को दांवपेंच में पटखनी देने से पीछे नहीं हटतीं।
दरअसल दोनों बहनें जुड़वा हैं, लेकिन निष्ठा नित्या से 15 सेकंड बड़ी हैं। दोनों बहनें 9 साल से मार्शल आर्ट के गुर सीख रहीं हैं। दोनों अब तक 4 नेशनल, एक इंटरनेशनल सिल्वर मेडल, 12 स्टेट मेडल जीत चुकी हैं। अब दोनों का लक्ष्य एक ही है कॉमन वेल्थ गेम में जगह बनाना। बताते हैं कि कॉमन वेल्थ गेम में 16 साल की उम्र में जूनियर और 18 साल की उम्र में सीनियर कैटेगरी में प्रवेश दिया जाता है, इसके लिए दोनों अभी पात्रता नहीं रखती हैं, लेकिन तैयारी में वे कोई कमी नहीं करती हैं।
इससे पहले नेशनल नवमीं जूडो मार्शल आर्ट्स चैम्पियनशिप पुणे में निष्ठा जैन ने गोल्ड मेडल व नित्या जैन ने सिल्वर मेडल, महाराष्ट्र के वर्धा देवली में फस्ट ऑल इंडिया ओपन कराते चैम्पियनशिप में कांस्य पदक हासिल कर चुकी हैं।

बेटियों में इतना हुनर है कि उनके कंधे पर कोई हाथ नहीं रख सकता
इनकी मां सिखा जैन ने बताया कि प्रतियोगिता की तैयारी में बेटियां लगी हुई हैं, लेकिन उन्हें इस बात की खुशी है कि उनकी बेटियां सेल्फ डिफेंस कर सकती हैं। वे अपनी सुरक्षा खुद करने में सक्षम हैं। उन्होंने बताया कि उनकी बेटियों ने बचपन में तेजस्वनी फिल्म देखी, फिल्म देखने के बाद उनकी बेटियों के मन में कराते सीखने को लेकर इच्छा जाहिर की थी। जिसके बाद उन्होंने बेटियों को प्रशिक्षण दिया। उन्होंने बताया कि आज के दौर में बेटियों को लेकर जो घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसी घटनाएं रोकने में बेटियां समक्ष हैं। बेटियों में इतना हुनर आ गया है कि उनके कंधे पर कोई हाथ नहीं रख सकता।

नित्या आईएएस बनना चाहती हैं तो निष्ठा आर्मी में जाने को तैयार
दोनों जुड़वा बहनें साढ़े चार साल की उम्र से पढ़ाई के साथ-साथ कराते भी सीख रही हैं। फिलहाल दोनों ब्लैक बेल्ट हैं अब खुद की तैयारी के साथ-साथ दूसरे को भी सिखा सकती हैं। क्योंकि 14 साल के बाद यह तैयार हो गईं हैं। भविष्य में इंटरनेशनल गेम्स में शामिल होने के साथ-साथ दोनों के लक्ष्य भी अलग-अलग हैं। नित्या यूपीएससी करना चाहती है। उसे आईएएस बनना है। जबकि निष्ठा को आर्मी में जाना है। जिसकी वह तैयारी कर रही है। कोरोना काल के बीच भी वे ऑनलाइन प्रतियोगिताओं में भाग ले रही हैं। दोनों के लिए कोच नहीं हैं, पहले दमोह में अरुण खरे सर से कोचिंग ली, उसके बाद जबलपुर में भी प्रशिक्षण लिया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें