पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रक्रिया निरस्त:ईडब्ल्यूएस भवनों के आवंटन में हंगामा, संपदा अधिकारी बोले- गलती हो गई

दमोह3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दमाेह| कंटेनर में चार पर्चियां बची। - Dainik Bhaskar
दमाेह| कंटेनर में चार पर्चियां बची।
  • 19 आंवटियों के बीच 4 पर्चियां बचीं, गुणवत्ता पर भी उठ रहे सवाल

जबलपुर-कटनी बायपास मार्ग पर राजनगर के पास मप्र हाउसिंग बोर्ड की दमयंतीपुरम काॅलोनी में ईडब्ल्यूएस भवनों के आवंटन की प्रक्रिया के दौरान शनिवार को उस दौरान हंगामा हो गया, जब आवंटन के लिए 19 आवंटी शेष थे और डिब्बे में केवल चार पर्चियां मिलीं।

15 पर्चियां गायब होने पर लोगों ने पूरी प्रक्रिया पर सवाल खड़ा कर दिया। हैरानी की बात यह है कि भवनों में भी मकान नंबर 392 से लेकर 415 तक एक भी भवन का आवंटन नहीं किया गया। लाइन से पूरे मकान आवंटित नहीं किए गए। जिस पर लोगों ने सवाल उठाना चालू कर दिया। कुछ देर बाद ही लॉटरी प्रक्रिया में हुई गड़बड़ी को स्वीकार करते हुए संपदा अधिकारी ने लॉटरी की प्रक्रिया निरस्त कर दी। अधिकारी ने मंच से प्रक्रिया निरस्त होने और नए सिर से लॉटरी के लिए आने वाले दिनों में फिर से नई तिथि जारी करने की बात कही। इधर कुछ आवंटियों ने भवनों की गुणवत्ता पर सवाल उठाकर अधिकारियों को सामने ही खरी-खोटी सुनाईं।

मप्र हाउसिंग बोर्ड की ओर से दमयंतीपुरम काॅलोनी में 28 जनवरी से ईडब्ल्यूएस भवनों के आवंटन को लेकर लॉटरी प्रक्रिया प्रारंभ की थी। 30 जनवरी को अंतिम दिन आवंटन की प्रक्रिया अंतिम दौर में चल रही थी। जैसे ही पंजीयन नंबर 682 का नंबर आया तो डिब्बा में केवल चार पर्चियां नजर आईं, जबकि आवंटन के लिए 19 आवंटी शेष रह गए थे। जैसे ही पर्चियां कम होने की बात सामने आई, आवंटियों ने हंगामा करना चालू कर दिया। आवंटियों का कहना था कि मकान शेष रह गए हैं और पर्चियां केवल चार बचीं हैं।

इस पर अधिकारी जवाब नहीं दे पाए। संपदा अधिकारी ने कर्मचारियों को डांट लगाई और पर्चियों के बारे में जानकारी ली। इस बीच अधिकारी स्वयं बोले के यह गलती हो गई है और अब पूरी प्रक्रिया ही रद्द की जा रही है। आवंटी माया गोस्वामी ने बताया कि उन्हें जो मकान मिला है, उसकी गुणवत्ता खराब है। एक बार भी अधिकारियों ने गुणवत्ता की जांच नहीं की और आवंटन कर दिया। जिस तरफ अच्छे मकान थे, वहां पर पहले से आवंटन हो गया। इसी तरह आवंटी दुर्जन प्रसाद ने बताया कि उनके आवंटन में भी गड़बड़ी हुई है।

जो भवन उन्हें खुला था, उसे किसी दूसरे का बता दिया गया। आवंटी हरि मिश्रा ने आवंटित हुए भवन की फोटो मोबाइल में खीचीं और अधिकारियों को दिखाई। उन्होंने कहा कि यह क्या मजाक है, जिस चीज की राशि वसूल कर रहे हो। इस पर संपदा अधिकारी बोले मैं 15 दिन पहले ही आया हूं। मुझे कुछ पता नहीं है। इस पर आवंटी भड़क गया और उसने कहा कि मैं अपना आवास नहीं लूंगा। उसमें गड़बड़ी है। जब तक भवन ठीक नहीं होगा। वे आवंटन नहीं लेंगे।

मैं गलती स्वीकार करता हूं : खरे
ईडब्ल्यूएस भवनों के आवंटन की प्रक्रिया में गड़बड़ी मिली है। इसलिए मैं गलती स्वीकार करता हूं और आने वाले दिनों में नए सिरे से आवंटन की प्रक्रिया होगी। उन्होंने बताया कि एलआईजी भवनों के आवंटन की प्रक्रिया यथावत होगी। उनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। - महेंद्र खरे, संपदा अधिकारी

477 भवनों का होना था आवंटन
भवनों के आवंटन के लिए लॉटरी संपादित कराने सागर से आए लेखाधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि जबलपुर-कटनी बाईपास मार्ग पर राजनगर के पास मप्र हाउसिंग बोर्ड की दमयंतीपुरम कालोनी में अटल आवास योजना के तहत 867 मकान बने हैं। जिनमें ईडब्ल्यूएस के मकानों की संख्या 477 है और एलआईजी श्रेणी के 390 भवन हैं। इनमें एलआईजी भवनों का आवंटन 1 और 2 फरवरी को किया जाएगा। लेकिन ईडब्ल्यूएस भवनों के आवंटन की प्रक्रिया निरस्त कर दी गई है और नए सिरे से आवंटन करने की प्रक्रिया अब अलग से होगी। जिसकी सूचना फिर से अावंटियों को दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें