पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रवचन:‘धर्म को जीवन में धारण करो तभी कल्याण संभव’

दमोह10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जैन धर्मशाला में आचार्य श्री निर्भय सागर के प्रवचन

स्थानीय जैन धर्मशाला में वैज्ञानिक संत आचार्य श्री निर्भय सागर महाराज के मंगल प्रवचन हुए। लेकिन सभी भक्तों ने यूट्यूब चैनल पर चल रही निर्भय वाणी पर ऑन लाइन प्रवचन सुनें, क्योंकि मंगलवार को दमोह में लॉकडाउन होने की वजह से सभा में श्रोता को नहीं आने दिया।  आचार्यश्री ने कहा तीर्थंकर नारायण, प्रति नारायण, चक्रवर्ती, कामदेव आदि महापुरुषों के दाड़ी, मूछ, बाल नहीं होते वे हमेशा तरुण बालक की तरह सुंदर और युवा बने रहते है,  वे कभी वृद्ध भी नहीं होते तीर्थंकर बालक मां का स्तन पान नहीं करते बल्कि देवो द्वारा लाया गया अमृत पान करते हैं। महापुरुषों के वृद्ध न होने का कारण बताते हुए आचार्यश्री ने कहा उनके शरीर में फ्री रैडिकल्स यानि अनावश्यक कोशिकाओं का एवं तत्वों का संग्रह नहीं होता और रोगणों उत्पन्न नहीं होते हैं और उनका परम् शरीर होता है। आचार्य श्री ने कहा धर्म को जीवन में धारण करो सिर्फ चर्चा का विषय न बनाओ तभी कल्याण का संभव है, प्राकृतिक जीवन जीने की और अंत में वीर मरण की कला सिखाता है जैनधर्म, दर्शन तर्क से पैदा होता है और धर्म श्रद्धा से पैदा होता है। अरहन शब्द की व्याख्या करते हुए आचार्य श्री ने अ अक्षर अनंत ज्ञान का रेफ अनंत दर्शन का ह अनंत शक्ति का और न अनुस्वार अनंत सुख का प्रतीक है अरिहंत परमेष्ठी अनंत दर्शन, अनंत ज्ञान, अनंत सुख और अनंत बल के धारी होते हैं इसलिए उन्हें अरहन कहते हैं। उन्होंने कहा जीवन को चलाने और सुख शांति प्राप्त करने के लिए ज्ञान परम आवश्यक है। ज्ञान के बिना मानव जीवन पशु तुल्य है इसीलिए अपनी संतान को शिक्षित करना चाहिए  जैसे बबूल के बीज बोकर आम के फल प्राप्त नहीं कर सकते वैसे ही बुरे कार्य करके इज्जत और सुख शांति रूप शुभ फल नहीं पा सकते, इसीलिए प्रत्येक इंसान को अच्छे कार्य करना चाहिए। पैसा कमाना इतना पाप का कारण नहीं है जितना कि पैसा दुरुपयोग करने में पाप है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें