प्रदूषित हो रही नदी / सुनार नदी के घाटों पर जमा हो गई चोई

Choi is deposited on the ghats of Sunar river
X
Choi is deposited on the ghats of Sunar river

  • ठहरे पानी में अब लोग नहाने से कर रहे परहेज, डेम से पानी छोड़ जाने की उठी मांग

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 08:10 AM IST

हटा. नगर की जीवनदायिनी सुनार नदी गर्मी में धीरे-धीरे सूखती जा रही है। नगर के किनारे से निकलने वाली नदी के सभी घाटों पर हरी चोई जमा हो चुकी है। नावघाट से लेकर मातन घाट तक सभी घाटों में पानी उपयोग के लिए नहीं बचा है। पिछले तीन वर्षों से लगातार पंचम नगर बांध का पानी छोड़े जाने से पूरे क्षेत्र में स्वच्छ और लबालब पानी भरा रहता था, लेकिन इस वर्ष बांध से पानी नहीं छोड़ा गया है इसलिए पूरी नदी में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। स्थिति यह है कि नदी का पानी भी लगातार प्रदूषित होता जा रहा है। अभी बारिश को एक माह का समय बाकी है, ऐसे में लोगों को एक माह तक परेशानियों से जूझना पड़ेगा।

गौरतलब है कि पिछले तीन वर्षों से ग्रीष्म काल में सुनार नदी पानी से लबालब भरी रहती थी। जिसके कारण सुनार नदी के किनारे बसे दर्जनों ग्रामों में पेयजल पर्याप्त उपलब्ध होता रहता था। इसके अलावा नदी के किनारे स्थित वन्य अभयारण्यों में पशुओं को पर्याप्त पानी उपलब्ध होता रहता था। साथ ही हटा वासियों को भी सुनार नदी के ही पानी से पर्याप्त जल प्रदाय किया जाता था, लेकिन इस वर्ष सुनार नदी पिछले तीन वर्षों से निम्न लेवल पर पहुंच गई है और हटा नगर में इसका पानी लगातार प्रदूषित होता जा रहा है। जल स्तर कम होने से लोग अब सुनार नदी के पानी में हाथ भी धोना नहीं चाहते। 

पंचमनगर से पानी छोड़ने जनपद अध्यक्ष ने सौंपा मांग पत्र
शुक्रवार को जनपद पंचायत अध्यक्ष अनुष्का राय ने पंचमनगर बांध से सुनार नदी में पानी छोड़े जाने के लिए एसडीएम को मांग पत्र सौंपा। जिसमें कहा गया कि पंचमनगर बांध से सुनार नदी में अतिशीघ्र पानी छोड़ा जाए, ताकि सुनार नदी के तट पर बसे ग्रामवासियों की पेयजल समस्या का निदान हो सके। मांग पत्र सौंपे जाने के दौरान राकेश सिंह मरकाम ने आश्वस्त किया है कि पंचम नगर बांध परियोजना से जुड़े अधिकारियों ने शीघ्र पानी छोड़े जाने का आश्वासन दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना