पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानी का उपयोग:पानी की चोरी, बीना नदी से विदिशा के किसान कर रहे सिंचाई, नगर की सप्लाई भी यहीं से

खुरई19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खुरई | बीना नदी पर बना एनीकट पूरी तरह खाली हो गया है, विदिशा जिले के किसान नदी से सिंचाई कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
खुरई | बीना नदी पर बना एनीकट पूरी तरह खाली हो गया है, विदिशा जिले के किसान नदी से सिंचाई कर रहे हैं।
  • गेट से नदी का पानी 100 फीट दूर पहुंचा, सिर्फ एक फीट नजर आ रहा
  • जहां धड़ल्ले से सिंचाई की जा रही, वहां नदी के पत्थर दिखाई दे रहे

सार्वजनिक जल स्रोतों के पानी का उपयोग किसान सिंचाई में धड़ल्ले से कर रहे हैं। बीना नदी से जमकर चल रही सिंचाई का सिलसिला रूक नहीं रहा है। नपा का एनीकट खाली हो गया है, इंटेकवेल का जलस्तर घट रहा है। नपा ने पानी बचाने के लिए किसानाें काे चेतावनी दी थी, जिससे स्थानीय स्तर की सिंचाई रुक गई।

लेकिन विदिशा जिले के क्षेत्र में सिंचाई का सिलसिला रूक नहीं रहा है।बीना नदी पर यूडीआईएसएसएमटी योजना के तहत पानी स्टोरेज के लिए बनाए गए एनीकट का पानी पूरी तरह खत्म हाे गया है। 10 फीट ऊंचे एनीकट में चार गेट हैं, जिसमें ढाई फीट का एक गेट है। पानी पूरी तरह खाली हो गया है। गेट से नदी का पानी 100 फिट दूर पहुंच गया है, इसके बाद भी बहुत दूर तक नदी में पानी सिर्फ एक फीट नजर आ रहा है। एनीकट के दूसरी ओर विदिशा जिला लगा हुआ है। जहां धड़ल्ले से सिंचाई की जा रही है। नदी के पत्थर दिखाई दे रहे हैं।

मोटर से 24 घंटे हो रही सिंचाई
वहीं दलपतपुर घाट से लेकर हनौता फिल्टर इंटेकवेल तक सागर एवं विदिशा जिले के किसान सिंचाई कर रहे हैं। इसमें विदिशा जिले के किसानों की संख्या ज्यादा है। पानी में पनडुब्बियां मोटरें डली हुई हैं, इंजन भी रखे हुए हैं। जिनसे 24 घंटे सिंचाई हो रही है। ऐसे में जलस्तर तेजी से घट रहा है। नपा ने अभी अगर पूरी तरह प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो 20 से 25 दिन में नदी के इस हिस्से का पानी खाली हाे जाएगा। जिससे मवेशियों के लिए एवं गांवों में पानी का संकट हो जाएगा।

साढ़े 6 हजार घरों में सप्लाई
नगर में यूडीआईएसएसएमटी योजना के तहत 6 ओवर हेड टैंक बने हुए हैं। जिनसे साढ़े 6 हजार घरों में सप्लाई होती है। स्टोरेज के लिए बीना नदी पर हनौता फिल्टर के पास एनीकट है। जिससे गर्मियों में पानी की कमी न हो। हर साल एनीकट सिंचाई से सूख जाता है बाद में नदी के गड्ढाें काे तलाश कर पानी शिफ्ट हाेता है उसका पानी नगरवासियाें काे मिलता है। जिससे परेशानी हाेती है। हर साल विदिशा एवं सागर जिले के किसानों पर प्रतिबंध लगाना पड़ता है तब पानी मुश्किल से बच पाता है।

प्रतिदिन जलस्तर की जानकारी ले रहे
प्रतिदिन जलस्तर की जानकारी ले रहे हैं। किसानाें काे पहले सिंचाई न करने के लिए माैखिक चेतावनी दी थी। उसके बाद टीम ने तार जब्त किए थे। लेकिन विदिशा जिले के किसान सिंचाई कर रहे हैं।
-आकाश उदेनिया, सब इंजीनियर
पानी बचाने हर संभव प्रसास किए जाएंगे

पानी बचाने के लिए हर संभव प्रयत्न किए जाएंगे। विदिशा जिले के किसानों के लिए प्रशासनिक स्तर पर पहल की जाएगी। जरूरत पड़ी तो नपा सीएमओ को निर्देशित कर पानी की चाैकीदारी के लिए कर्मचारियों को भी रखा जाएगा।
-मनोज चौरसिया, एसडीएम

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें