पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

टिड्‌डी दल:20 किमी की गति से आ रहे टिड्‌डी दल ने हवा के रुख के साथ बदला रास्ता

नौगांव4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब हवा की दिशा बदलने से नौगांव- छतरपुर की बजाय मऊरानीपुर से पलेरा की ओर मुड़ गया टिड्‌डी दल

पाकिस्तान की सीमा में तापमान बढ़ने से राजस्थान के बाद मध्य प्रदेश के नीमच जिले से होता हुआ टिड्‌डी दल बुंदेलखंड में भी प्रवेश कर गया। यह टिड्‌डी दल उज्जैन, देवास जिले की कन्नौद तहसील होते हुए 15 से 20 किमी की रफ्तार से आगे बढ़ता हुआ शनिवार की शाम यूपी के मऊरानीपुर पहुंचा। यहां आने के बाद अचानक हवा की दिशा बदलने से टिड्डी दल पलेरा की ओर रुख कर गया। यह दल मऊरानीपुर से अचट्‌ट गांव होते हुए पलेरा की ओर तेजी से बढ़ गया। यह टिड्‌डी दल 15 से 20 किमी की रफ्तार के साथ उड़ कर एक दिन में 150 से 200 किमी की दूरी तय कर रहा है। हालांकि इस टिड्‌डी दल के पलेरा की ओर बढ़ जाने से अभी छतरपुर जिले के लिए खतरा टला नहीं है।
 कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. कमलेश अहिरवार ने बताया कि आज छतरपुर जिले की सीमा में प्रवेश करने वाला टिड्डी दल का हमला हवा का रुख बदलने से फिलहाल छतरपुर जिले के लिए टल गया है। उन्होंने बताया कि राजस्थान में तापमान बढ़ने से टिड्डी दल मध्य प्रदेश के नीमच जिले से होता हुआ उज्जैन पहुंचा।
 उज्जैन जिले से निकलकर देवास जिले की कन्नौद तहसील से होकर बुंदेलखंड में प्रवेश किया और शनिवार की दोपहर छतरपुर जिले से लगे हुए उत्तर प्रदेश के मऊरानीपुर में पहुंच गया था। इसके बाद यह टिड्डी दल छतरपुर जिले की सीमा में प्रवेश करने वाला ही था तभी अचानक हवा की दिशा बदली और यह दल हवा के रुख के साथ छतरपुर जिले की सीमा में प्रवेश करने की बजाय टीकमगढ़ जिले के पलेरा की ओर चला गया।
कीट विशेषज्ञों के अनुसार टिडि्डयों का जीवन सामान्यतया 3 से 6 माह का होता है। अनुकूल परिस्थितियां व भोजन मिलने पर यह 6 माह तक जीवित रह सकती हैं। नमी वाले क्षेत्र में टिडि्डयां अंडे देती हैं। टिड्‌डी एक बार में 20 से 200 तक अंडे देती हैं। मादा टिड्‌डी जमीन में छेद कर अपने अंडों को सहेजती हैं। गरम जलवायु में 10 से 20 दिन में अंडे फूट जाते हैं। वहीं सर्दियों में यह अंडे प्रशुप्त  रहते हैं। शिशु टिड्डी के पंख नहीं होते तथा अन्य बातों में यह वयस्क टिड्डी के समान होती है। शिशु टिड्डी का भोजन वनस्पति हैं और यह पांच-छह सप्ताह में वयस्क हो जाती है। इस अवधि में 4 से 6 बार तक इसकी त्वचा बदलती है। 
वयस्क टिड्डियों में 10 से लेकर 30 दिनों तक में प्रौढ़ता आ जाती है और तब वह फिर अंडे देती हैं। टिड्डी का विकास आर्द्रता और ताप पर अत्यधिक निर्भर करता है। टिड्‌डी को मारने का सबसे बेहतरीन उपाय यही है कि अंडों के फूटते ही उन पर रसायन का छिड़काव कर दिया जाए, ताकि बच्चे वहीं पर नष्ट हो सकें।
अपने वजन से ज्यादा खाती है फसल
सामान्यता डेजर्ट टिड्‌डी अपने वजन से कहीं अधिक भोजन एक दिन में खाती है। हरी पत्तियां, उस पर लगे फूल, फसल के बीज आदि टिड्‌डी के पसंद के भोजन हैं। यह जिस पौधे पर बैठ जाती है उसे पूरी तरह से साफ कर देती है। टिड्‌डी के उड़ने की रफ्तार भी बहुत होती है। यह एक दिन में 100 से 200 किलोमीटर तक का सफर तय कर सकती है। टिडि्डयां कभी अकेले में नहीं रहतीं। बल्कि लाखों के समूह में आगे बढ़ती हैं। तूफानी हवा में ही इनका समूह बिखरता है। इसके अलावा यह एकजुट होकर आगे बढ़ कर हमला बोलती हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें