पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • 13 Patients In The Division, Two Positive Reports In Sagar, One Had To Remove Eye Of Damoh Patient, Two Died In Chhatarpur

ब्लैक फंगस:संभाग में 13 मरीज, सागर में दो की रिपोर्ट पॉजिटिव, दमोह के मरीज की आंख निकालना पड़ी, छतरपुर में दो की मौत

सागरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीएमसी से मिला ब्लैक फंगस का चित्र। - Dainik Bhaskar
बीएमसी से मिला ब्लैक फंगस का चित्र।
  • सागर के एक मरीज का जबलपुर और दूसरे का भोपाल में भर्ती, बाकी का इलाज जारी

कोरोना की दूसरी लहर तो कहर बरपा ही रही है। अब बुंदेलखंड में ब्लैक फंगस इंफेक्शन का प्रकोप भी शुरू हो गया है। संभाग के 6 जिलों में इस बीमारी के 13 मरीज सामने आए हैं। सबसे ज्यादा 6 मरीज दमोह जिले में मिले हैं। सभी मरीज नागपुर, जबलपुर, भोपाल और इंदौर के अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं।

दमोह के एक मरीज की ऑपरेशन करके आंख निकालनी पड़ी है। जबकि छतरपुर में मिले दो मरीजों की मौत हो गई है। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब प्रभारी और एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. सुमित रावत ने बताया कि ईएनटी और नेत्र विभाग के डॉक्टरों ने ब्लैक फंगस की जांच के लिए तीन मरीजों का कल्चर भेजा था।

इनमें से 2 मरीजों (60 वर्षीय पुरुष तथा 63 वर्षीय महिला) की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन मरीजों को नाक में इंफेक्शन था। इसकी वजह से दोनों को नाक में दर्द, सूजन तथा सांस लेने में परेशानी हो रही थी। डॉक्टरों के अनुसार पुरव्याऊ वार्ड निवासी 60 वर्षीय पुरुष भोपाल के निजी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं।

जबकि कटरा निवासी 63 वर्षीय महिला मरीज का इलाज जबलपुर के निजी अस्पताल में चल रहा है। सीएमएचओ डॉ. इंद्राज सिंह के अनुसार शहर के निजी अस्पतालों में भी ब्लैक फंगस के दो मरीज सामने आए हैं। अभी इनके नाम, पता और उम्र की पुष्टि नहीं हो सकी है।
दमोह : 6 मरीज मिले, एक की आंख का ऑपरेशन इंदौर में हुआ : जिले में ब्लैक फंगस के 6 केस सामने आए हैं। इनमें से चार केस दमोह के हैं। जबकि एक पन्ना और एक केस सागर जिले के गढ़ाकोटा तहसील का है। दमोह में मिले चार मरीजों में से एक भोपाल, एक नागपुर, एक जबलपुर और एक मरीज का इंदौर में इलाज चल रहा है।

इंदौर में भर्ती मरीज की बायीं आंख का ऑपरेशन करके उसे निकालना पड़ा है। जबकि तीन अन्य मरीजों की आंखों का ऑपरेशन होना है। इधर परिजन आंख को इंफेक्शन से बचाने के लिए इंजेक्शन की तलाश में भटक रहे हैं। कुछ ने सोशल मीडिया पर संदेश लिखकर इंजेक्शन के लिए मदद मांगी है। छतरपुर : 2 मरीज मिले, एक की जिला अस्पताल, दूसरे की भोपाल में मौत: जिले में ब्लैक फंगस के अब तक 2 केस सामने आए हैं। दोनों ही केस छतरपुर शहर के हैं। एक मरीज सटई रोड का और दूसरा बकायन-खिड़की मार्ग का है। सटई रोड के 63 वर्षीय वृद्ध की जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में इलाज के दौरान मौत हो गई।

वहीं बकायन खिड़की मार्ग के 35 वर्षीय युवक की 13 मई की देर रात भोपाल के निजी अस्पताल में मौत हो गई। जिला अस्पताल के कोविड आईसीयू में भर्ती रहे कोरोना मरीजों की डॉक्टरों ने स्क्रीनिंग शुरू कर दी है। जिन मरीजों में इंफेक्शन के लक्षण मिल रहे हैं। उन्हें दवाइयां देना शुरू कर दिया है।

टीकमगढ़ : दो मरीज, एक की रिपोर्ट पॉजिटिव
जिला अस्पताल में कोरोना संक्रमण का इलाज कराने के बाद स्वस्थ हुए दो मरीजों में ब्लैक फंगस के लक्षण मिले हैं। इनमें एक मरीज जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर की मां है और दूसरा मरीज मेडिकल संचालक है। जिसकी रिपोर्ट संदिग्ध है।

डॉ. सौरभ जैन ने बताया कि महिला मरीज को इलाज के लिए भोपाल रैफर किया गया है। जहां उनकी एंडोस्कोपी हो चुकी है। वहीं संदिग्ध मरीज की एमआरआई कराई गई है। जिसकी अभी रिपोर्ट आना बाकी है।

खबरें और भी हैं...